पुतिंगल मंदिर के मलबे में अब भी दबे हो सकते हैं सैकड़ों लोग, चल रहा है बचाव अभियान

author image
5:08 pm 10 Apr, 2016


केरल के कोल्लम के पुतिंगल मंदिर में भीषण अग्निकांड में 15 हजार लोग पलभर में स्वाहा हो सकते थे। बताया जाता है कि जब आतिशबाजी हो रही थी, उस दौरान करीब 15 हजार से अधिक श्रद्धालु मंदिर परिसर में मौजूद थे।

स्थानीय प्रशासन का कहना है कि उनकी अनुमति के बगैर ही आतिशबाजी की प्रतियोगिता आयोजित की गई थी। इस मामले में पुलिस ने मंदिर प्रशासन के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

इस बीच, हादसे में जान गंवाने वालों की संख्या 110 हो गई है। मलबे में अब भी कई लोगों के दबे होने की आशंका है।

धमाकों की वजह से मंदिर का एक हिस्सा ढह गया है, जिसमें लोग फंसे हो सकते हैं।

घटनास्थल पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पहुंच चुके हैं और उनके साथ 15 डॉक्टरों की एक टीम भी है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में राहत व बचाव अभियान चल रहा है।

भारतीय वायु सेना ने यहां Mi17 और ALH समेत 4 हेलिकॉप्टर्स तैनात किए हैं। साथ ही नौसेना ने डॉरनियर और मेडिकल यूनिट के साथ 2 ALH लगाए हैं।

समुद्र में INS काबरा, कालपेनी और INS सुकन्या को कोल्लम डिस्ट्रिक्ट भेजा गया है। साथ ही कोच्चि में नवल कमांड हॉस्पिटल में सर्जिकल टीम को अलर्ट पर रखा गया है।

Discussions



TY News