बस हादसे में घायल हुए अमरनाथ तीर्थयात्रियों को बचाने आए स्थानीय मुस्लिम

author image
2:15 pm 14 Jul, 2016

जम्मू-कश्मीर में आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से जहां घाटी में तनाव की स्थिति बनी हुई है। वहीं, घाटी से मानवता और सौहार्द्र की मिसाल भी उजागर हुई।

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 1ए पर दुर्घटना में घायल अमरनाथ तीर्थ यात्रियों को बचाने के लिए स्थानीय मुस्लिमों ने अपनी जान जोखिम में डाल कर कर्फ्यू में बाहर निकल घायलों को अस्पताल पहुंचाया।


अमरनाथ तीर्थ यात्रियों को ले जा रही एक बस अनंतनाग जिले में बिजबेहरा शहर के निकट दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस हादसे में यूपी के एक अमरनाथ यात्री और एक स्थानीय बस ड्राइवर की मौत हो गई वहीं 28 श्रद्धालु घायल हुए।

हादसे की आवाज सुनते ही स्थानीय मुस्लिम लोग कर्फ्यू के बावजूद घायल लोगों की मदद करने घटनास्थल पर पहुंचे और तुरंत घायलों को अस्पताल पहुंचाया।

पुलिस ने बताया कि स्थानीय लोगों ने कर्फ्यू तोड़कर बचाव अभियान चलाया और इसके लिए उन्होंने अपना जीवन भी जोखिम में डाल दिया। स्थानीय मुस्लिम लोगों ने तब ऐसा किया जब सुरक्षाबलों की फायरिंग में यहीं के दो युवकों की मौत पर घाटी में शोक पसरा हुआ है।

एक चश्मदीद ने IANS से कहा: ‘स्थानीय मुसलमान अपने निजी वाहनों से घायलों को अस्पताल ले गए। कुछ लोगों तो घायलों को श्रीनगर स्थित अस्पताल भी ले गए।’

Discussions



TY News