भारत के राज परिवारों के बारे में 10 रोचक तथ्य जिनके बारे में आपको शायद ही पता हो

5:38 pm 22 Jun, 2016


राज परिवार जिस तरह की राजसी जिंदगी जीते हैं, हम उसके बारे में केवल कल्पना कर सकते हैं। दुनिया के अन्य राज परिवारों की भांति ही भारत के राज परिवार भी कम नहीं हैं। “चांदी का चम्मच मुंह में ले कर पैदा होने” वाली कहावत के अनुरूप वह अपनी शान-ओ-शौकत एवं विलासिता को दिखाने का कोई भी अवसर नहीं चूकते हैं।

लोग अब भी उनकी राजसी ठाट-बाट के बारे में चर्चा करते हुए उनकी जिन्दगी की कल्पनाओं में डूब जाते हैं। आज हम आपको भारतीय राज परिवारों के कुछ अनूठे तथ्यों के बारे में बता रहें हैं, जिनकी वजह से वह अभी तक चर्चा में हैं।

1. कूचबिहार की महारानी इंदिरा देवी ने 20वीं सदी के मशहूर जूतों के इटालियन डिज़ाइनर सल्वातोरे फेर्रागामो से 100 जोड़ी जूते मंगाए थे। इन जूतों के बारे में कहा जाता है कि इनमें से कुछ में हीरे जड़े थे।

2. जयपुर की महारानी गायत्री देवी भारतीय राज परिवारों की सबसे खूबसूरत महिलाओं में एक मानी जाती थीं। इस प्रसिद्ध महिला को अपने पति की पोलो खेलते समय मृत्यु तथा सन 1997 में अपने पुत्र की मृत्यु जैसी दो दुःखद घटनाओं का सामना करना पड़ा।

3. कलिंग युद्ध की बर्बरता, क्रूरता एवं नग्न पैशाचिक निर्दयता को देखकर चक्रवर्ती सम्राट अशोक का हृदय द्रवित हो गया था। उन्होंने सदा के लिए शस्त्र का परित्याग कर दिया।

4. मैसूर के वाडियर वंश ने मैसूर के राजा का क़त्ल कर सिंहासन पर कब्ज़ा किया था, लेकिन महारानी किसी प्रकार बच निकलने में कामयाब हो गई, परन्तु वह बाद में पकड़ी गई। उन्होंने आत्महत्या कर ली तथा वाडियर को पुत्र न होने का अभिशाप दिया। बाद में वाडियर परिवार ने उनकी प्रतिमा महल में स्थापित कर उसकी पूजा की और यह प्रथा अभी तक प्रचलित है।

5. जयपुर के महाराजा सवाई माधो सिंह द्वितीय ने अपने कारीगरों द्वारा चांदी का बहुत बड़ा बर्तन बनवाया, जिसका उद्देश्य उनकी इंग्लैंड यात्रा में अपने साथ गंगा जल ले जाना था।


6. अलवर के राजा जय सिंह ने लंदन में रॉल्स रॉयस के कर्मचारियों द्वारा की गई बेइज्जती का बदला लेने के लिए रॉल्स रॉयस की गाड़ियां मंगाकर इससे शहर का कूड़ा ढोने का आदेश दिया।

7. हैदराबाद के निज़ाम अपने दौलत को असुरक्षित महसूस करते थे। उन्होंने अपनी पूरी दौलत ट्रकों में छुपा दी, जिसमें बाद में दीमक लग गए।

8. हैदराबाद के आखिरी निज़ाम मीर उस्मान अली खान के द्वारा विश्व के पांचवें सबसे बड़े हीरे ‘जेकब’ का पेपर वेट की तरह इस्तेमाल किया जाता था। उस हीरे का साइज़ शतुरमुर्ग के अंडे (184.97 ct) के बराबर तथा कीमत 50 लाख रुपए थी। यह अब भारत सरकार के पास है।

9. प्रिंस मानवेन्द्र सिंह गोहिल अकेले ऐसे राजसी व्यक्ति थे, जिन्होंने सबके सामने यह स्वीकार किया कि वह समलेंगिक व्यक्ति हैं। दुर्भाग्य से बाद में उन्हें उनके परिवार वालों ने त्याग दिया।

10. यह कहा जाता है कि जूनागढ़ के नवाब के पास 800 कुत्ते थे। उनमें प्रत्येक की देखभाल के लिए अलग-अलग व्यक्ति था। नवाब इन कुत्तों की शादी पर लाखो रुपए खर्च कर देता था।

Discussions



TY News