इन भिखारियों के पास है गाड़ी, फ्लैट और लाखों का बैंक बैलेन्स

author image
9:14 pm 14 Dec, 2015

आप यह जानकर कैसा महसूस करेंगे कि जिस भिखारी को आप सिक्कों की भीख देते हैं, वह दरअसल एक करोड़पति है। आपके चेहरे का भाव निश्चित तौर पर देखने लायक होगा। तो चौंकिए मत। आज आपको मैं जिन भिखारियों से मिलवाने जा रहा हूं, वे दरअसल भारत के सबसे अमीर भिखारियों में से एक हैं।

वे सुविधा-सम्पन्न हैं। उनके बच्चे कॉन्वेन्ट स्कूलों में पढ़ते हैं। उनके पास खुद का बिजनेस है, दुकानें हैं और बैंक बैलेन्स करोड़ों में है। इसके बावजूद भीख मांगना इनका पेशा है। तो चलिए, मिलते हैं इन करोड़पति भिखारियों से।

1. भरत जैन : अंग्रेजी बोलने वाला करोड़पति भिखारी

 

फ़र्राटेदार अंग्रेज़ी बोलने वाले भिखारी भरत जैन 49 साल के हैं। ये जनाब रोजाना 8 से 10 घंटे मुंबई के परेल पर भीख मांगते है और महीने के करीब 65 हजार रुपए कमा लेते हैं, जो कि वहां के मुख्यमंत्री की पगार से अधिक है। है न होश उड़ाने वाली बात। तो और सुनिए इनके पास खुद के 70-70 लाख के दो फ्लैट हैं।

भरत भांडुप इलाके में एक जूस की दुकान के मालिक हैं। इसी जगह पर इनकी एक और दुकान है। जिससे इनको 10 हजार रुपए महीने का किराया मिलता है। भरत के परिवार में उनके पिता और बीवी बच्चे हैं। भरत हिन्दुस्तान के सबसे अमीर भिखारी हैं, फिर भी अगर ये परेल पर भीख मांगते दिख जाए तो हैरान मत होइएगा।

2. पप्पू कुमार : बैंक बैलेंस ना पूछो

 

ये जनाब पटना से आते हैं। इनका बैंक बैलेंस 1 करोड़ से ऊपर है। फिर भी लोगों से यह कह कर भीख मांगते हैं की कई दिनों से खाना नही खाए हैं। कुछ खाने के लिए रुपए दे दो। है ना मज़ेदार?

 

3. मासु: फैशनेबल भिखारी

 

यह साहब फिल्म स्टूडियो में कपड़े बदल कर ऑटो से भीख मांगने वाली जगह पर पहुंचते हैं। मासु भी मुंबई के परेल से ताल्लुक रखते हैं। वहां उनका खुद का 1 कमरे का फ्लैट है। साथ ही 30 लाख रुपए की अन्य संपत्ति के साथ लगभग 30 लाख तक की संपत्ति है। परिवार वालों के समझाने के बाद भी ये अपने फैशनेबल तरीके से भीख मांगना नही छोड़ते।

 

4. कृष्ण कुमार गीते : खुद का है फ्लैट

 

नल्लोसपूरा में रहने वाला कृष्ण कुमार गीते अपने भाई के साथ अपने खुद के फ्लैट में मज़े से रहता है। वह दिन में 8 से 10 घंटे भीख मांगता है।

 

5. सार्वितीया देवी : 36 हजार रुपए जीवन बीमा प्रीमियम देती हैं


 

इनसे मिलिए, ये हैं भारत की सबसे प्रसिद्ध महिला भिखारी सार्वितीया देवी। ये पटना में रहती है और सालाना 36 हजार रुपए एलआईसी प्रीमियम का भुगतान करती हैं। भीख से हुई आमदनी से ये अपनी बेटी की शादी कर चुकी हैं और इनके पास भी खुद का घर है। दिलचस्प बात तो यह है की ये सात तीर्थ स्थानों पर तो घूम चुकी हैं साथ ही विदेश यात्रा भी की है। वह ट्रेनों में भीख मांगने की बात पर ठहाका लगाती हैं और कहती हैंः

“यह मेरे लिए मज़ेदार काम है। मैं किसी भी ट्रेन में बिना टिकट के घुस जाती हूं और भीख मांगते हुए अपने मंज़िल तक आराम से पहुंच भी जाती हूं।”

 

6. संभाजी काले : रोज 1500 रुपए है कमाई

 

संभाजी भिखारी मुंबई के स्लम क्षेत्र विरार से आते हैं। इनकी रोज़ाना आमदनी 1500 रुपए है। इसके इलावा इनके पास खुद के 2 घर और इतने ही प्लॉट है। और तो और इन्होने बैंकों में भी निवेश कर रखा है।

7. हाजी : दरगाहों और मंदिरो के भिखारी

 

हाज़ी मुंबई से है इनकी रोज़ाना की आमदनी 2 हजार रुपए है। त्योहारों के वक़्त इनकी आमदनी बढ़ जाती है। इनके पास खुद का घर है और साथ में ही लगभग 15 लाख तक के प्लाट्स। इसके अलावा हाज़ी का खुद का जरी का कारखाना है, जहां 15 लोग काम करते हैं। अपने परिवार के समझाने के बाद भी ये भीख माँगना नही छोड़ते। हाज़ी कहते हैं की एक ठीक-ठाक आमदनी शुरू होने पर वह अकेले रहने लगेंगे।

 

8. रामबाई: हर कोई पहचानता है इनको

 

खम्मम की रामबाई को हर कोई जनता है। ये खम्मम में बहुत लोकप्रिय हैं। हालाकी इन्होने अपनी संपत्ति का खुलासा तो नही किया पर जिस दिन इनकी संपत्ति की पोटरी का खुलासा होगा। आपके ज़रूर होश उड़ जाएँगे।

 

9. लक्ष्मी दास: भिखारियों की प्रेरणासोत्र

 

लक्ष्मी दास को सबसे बुजुर्ग भिखारी माना जाता है। लक्ष्मी 1964 में 16 साल की उम्र से भीख मांग रही है। लक्ष्मी दास को पोलियो है और इन्होने भीख मांग-मांग कर मोटा बैंक बैलेन्स बना लिया है। अभी हाल ही में उन्हें बैंक का क्रेडिट कार्ड मिला है। है न कमाल!

Discussions



TY News