उत्सव प्रेमी होते हैं भारतीय और ये हैं 12 वजह

author image
5:14 pm 24 Aug, 2015

मौका चाहे छोटा हो या बड़ा। हम भारतीय उत्सव मनाना पसन्द करते हैं। सच्चाई तो यह भी है कि हम उत्सव मनाने का कारण खोज लेते हैं। चाहे मामला कोई भी हो। हम किसी भी तरह का समझौता नहीं करते। हमारी कोशिश रहती है कि हम न केवल उत्सवों का आनन्द लें, बल्कि हमारे साथ के लोग भी इसका पूरा-पूरा आनन्द उठा सकें।

यह पोस्ट उन सभी लोगों को समर्पित है जो उत्सव और जीवन का आनन्द लेना जानते हैं। यह अपने आप में एक पूरा मनोरंजन होता है।

1. लजीज व्यंजन का उपलब्ध होना।

किसी भी उत्सव या मौके को सेलिब्रेट करने का सबसे पहला कारण है, लजीज व्यंजन। मौका चाहे जो भी हो, खाना लजीज हुआ तो सब बढ़िया।

2. लोग क्या कहेंगे।

हम कुछ भी करें, सबसे पहले सोचते हैं- लोग क्या कहेंगे। जी हां, यह सच है। सेलिब्रेशन भव्य होना चाहिए। क्योंकि हम भारतीयों को नुक्कड़वालों के सोचने से भी फर्क पड़ जाता है।

3. वो लोग, जिन्हें हम प्यार करते हैं।

हमारे उत्सवों में वो लोग शामिल होते हैं, जिन्हें हम बेहद पसन्द करते हैं। हम भारतीय भावनाओं से संचालित होते हैं। भले ही हम एक ड्राइविंग लाइसेन्स क्यों न लें, हम पार्टी देने की बात करते हैं।

4. उत्सव दोस्तों, परिजनों के साथ जोड़ता है।

कोई भी उत्सव या मौका दोस्तों और परिवार के सदस्यों को एक प्लेटफार्म पर ला देता है। हम अपने प्रियजनों का साथ पसन्द करते हैं। यह एक वजह है कि हम उत्सवों को भव्यता के साथ मनाते हैं।

5. हम किसी को टक्कर देना चाहते हैं।

हम तमाम भव्यता से इसलिए भी मौकों को सेलिब्रेट करते हैं, क्योंकि इससे पहले हमारे किसी परिवार के सदस्य ने या मित्र ने प्रभावशाली तरीके से उत्सव मनाया था। हम तो उसे टक्कर देने के मूड में होते हैं।

6. मौके बहुत हैं।


सेलिब्रेशन्स के मौके ढेर हैं। शादियां, जन्मदिन की पार्टी, एनिवर्सरी या रिटायरमेन्ट पार्टी। आप बस नाम लीजिए। हम सेलिब्रेट करेंगे।

7. नए लोगों से जुड़ने का मौका।

कई बार सेलिबेशन्स के मौकों पर आपको नए लोगों से जुड़ने का मौका मिलता है। इस तरह के उत्सवों में शादी की बात भी चलाई जा सकती है।

8. नए कपड़ों की खरीदारी।

उत्सव सेलिब्रेट करना हो तो नए कपड़ों की खरीदारी तो बनती है। अलग-अलग मौकों के हिसाब से अलग-अलग ड्रेस। आप पुराने कपड़े में किसी पार्टी में जाने की तो सोच भी नहीं सकते। सही है कि नहीं।

9. हम सेलिब्रेट करना पसन्द करते हैं।

त्यौहार हो या पार्टी। हम भारतीयों को सेलिब्रेशन से मतलब है। बस।

10. संगीत तो जैसे खून में बसता है।

डीजे के बिना उत्सव। ओह, हम तो सोच भी नहीं सकते। यही तो एक मौका होता है, जिसके लिए हम घंटों डान्स मूव्स की प्रैक्टिस कर रहे होते हैं।

11. यह जड़ता को खत्म करता है।

मानिए या न मानिए। लेकिन यह सच है कि उत्सव जड़ता को समाप्त करता है। अगर आपकी जिन्दगी नीरस है तो सेलिब्रेट करके देखिए। आपमें जीवन के प्रति उत्साह बढ़ेगा।

12. हम जिन्दगी जीने लगते हैं।

उत्सवों की वजह से हम जिन्दगी को कुछ इस तरह जीने लगते हैं कि जैसे एक-एक पल आखिरी हो।

Discussions



TY News