देश के 7 इन्काउन्टर विशेषज्ञ जिनके बारे में आपको शायद नहीं पता होगा

author image
7:17 pm 3 Jan, 2016

अपराधियों के इन्काउन्टर की खबरें तो आपने पढ़ी ही होंगी। अपराधियों और पुलिस अधिकारियों के आमने-सामने होने पर मुठभेड़ की नौबत आ जाती है। और इस तरह की परिस्थित से निपटने के लिए पुलिस डिपार्टमेन्ट के पास अपने विशेषज्ञ होते हैं। आज हम जिन सात इन्काउन्टर विशेषज्ञों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं, उनके बारे में संभवतः आप नहीं जानते होंगे।

1. प्रदीप शर्मा

104 इन्काउन्टर

यह एक ऐसा नाम है, जो सुनकर अपराधी थर-थर कांपते हैं। शर्मा ने अलग-अलग मुठभेड़ों में 104 अपराधियों को मार गिराया। छोटा राजन गिरोह के लखन भैय्या इन्काउन्टर केस की वजह से प्रदीप शर्मा मीडिया की लाइमलाइट में आए। बाद में राम नारायण गुप्ता इन्काउन्टर केस में शर्मा को वर्ष 2009 10 में निलंबित कर दिया गया था। हालांकि 2013 में कोर्ट ने उन्हें इन आरोपों से बरी कर दिया था।

2. दया नायक

83 इन्काउन्टर

दया नायक की इन्काउन्टर कथाओं ने बॉलीवुड के कई फिल्मकारों को प्रेरित किया है। अब तक छप्पन, कगार डिपार्टमेन्ट सहित कई फिल्में बनीं, जिन्होंने बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई की। दया नायक ने करीब 83 गैंगस्टर्स को ढेर किया और 300 से अधिक को गिरफ्तार कर जेल की सलाखों के पीछे भेजा। 1997 में हुए एक इन्काउन्टर के दौरान नायक को दो गोलियां लगी थीं।

3. प्रफुल्ल भोंसले

100 इन्काउन्टर

मुम्बई पुलिस के अधिकारी प्रफुल्ल भोंसले का नाम सुनकर अपराधियों के हौसले पस्त हो जाते थे। सही आंकड़ें तो नहीं हैं, लेकिन यह माना जाता है कि भोंसले ने अपने करियर में 90 से अधिक अपराधियों को ठिकाने लगाया।

4. दिवंगत विजय सालस्कर


90 इन्काउन्टर

विजय सालस्कर अपराधियों के लिए खौफ बनकर उभरे थे। उन्होंने 25 साल के पुलिस करियर में 90 इन्काउन्टर किए। मुम्बई में आतंकवादी हमलों के दौरान गोली लगने की वजह से सालस्कर वीरगति को प्राप्त हुए थे। उन्हें मरणोंपरान्त अशोक चक्र से सम्मानित किया गया था।

5. सचिन हिन्दुराव वाजे

63 इन्काउन्टर

मुम्बई पुलिस में साधारण शुरुआत करने वाले वाजे ने मुन्ना नेपाली, कृष्णा शेट्टी सहित लश्कर-ए-तोएबा के कई आतंकवादियों को ढेर कर दिया। वाजे प्रदीप शर्मा टीम के अहम सदस्य थे। बाद में उन्होंने पुलिस बल से इस्तीफा दे दिया और शिव सेना की सदस्यता ले ली।

6. रवीन्द्र अंगारे

51 इन्काउन्टर

रवीन्द्र अंगारे का खौफ इतना था कि सुरेश मानचेकर नामक एक अंडरवर्ड डॉन ने अपने गिरोह के साथ पुणे का इलाका छोड़ दिया। इसके बावजूद अंगारे ने उसे नहीं छोड़ा। वह एक इन्काउन्टर में मारा गया। 50 इन्काउन्टर के बाद रवीन्द्र अंगारे ने बकायदा एक हाफ सेन्चुरी पार्टी दी थी।

7. दिवंगत राजबीर सिंह

50 इन्काउन्टर

दिल्ली पुलिस में एक सामान्य पुलिसकर्मी के रूप में अपना करियर शुरू करने वाले राजबीर सिंह ने 50 से अधिक इन्काउन्टर किए थे। राजबीर की हत्या उनके एक 20 साल पुराने मित्र ने कर दी थी। यह हत्या विवादास्पद रही थी। माना जा रहा है कि करोड़ों के लेन-देन की वजह से राजबीर की हत्या की गई थी।

Discussions



TY News