भारत जल्द ही बंद करेगा पेट्रोलियम पदार्थों का आयात, बचेंगे 5 लाख करोड़ रुपए

author image
11:42 am 7 Sep, 2016


भारत जल्द ही पेट्रोलियम पदार्थों का आयात बंद कर देगा और इससे करीब 5 लाख करोड़ रुपए की बचत होगी। यह कहना है केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी का।

नीति आयोग द्वारा मेथेनॉल इकॉनमी पर आयोजित एक कार्यक्रम में गडकरी ने कहा कि केन्द्र सरकार पेट्रोलियम ईंधन के विकल्पों को विकसित करने पर ध्यान दे रही है। यही वजह है कि पेट्रोलियम पदार्थों के लिए अन्य देशों पर निर्भरता घटेगी और जल्द ही इसका आयात बंद कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में भारत कच्चे तेल के आयात पर 4.5 लाख करोड़ रुपए खर्च करता है। पहले भारत क्रूड आॅयल के निर्यात पर 7.5 लाख करोड़ रुपए खर्च करता था, लेकिन हाल के दिनों में वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट के चलते यह खर्च कम हुआ है।

गडकरी के मुताबिक, सरकार एथेनॉल,मेथेनॉल और बायो सीएनजी के विकल्पों पर ध्यान देकर उन्हें विकसित कर रही है।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने कहा कि सरकार उन विकल्पों को विकसित करने की दिशा में काम कर रही है, जो किसानों की नजर में बेकार होते हैं।

उन्होंने धान और गेंहूं के भूसे का उदाहरण देते हुए कहा कि यूरोप में धान के एक टन भूसे से 400 लीटर एथेनॉल प्राप्‍त किया जा रहा है। यही नहीं, बांस से भी एथेनॉल प्राप्त करने की दिशा में भारत अग्रसर है।


गडकरी ने कहा कि ऐसे ही कई विकल्‍प हैं, जिनसे बायो डीजल और कई तरह के ईंधन प्राप्‍त किए जा सकते हैं। इससे भारत का लगभग 5 लाख करोड़ रुपए बच सकेगा।

Discussions



TY News