तमिलनाडु में शुरू हुआ दुनिया का सबसे बड़ा सोलर पावर प्लान्ट

तमिलनाडु में बने दुनिया के सबसे बड़े सोलर पावर प्लान्ट ने बिजली उत्पादन शुरू कर दिया है। रामनाथपुरम के कामुधि में बने इस पावर प्लान्ट को सब-स्टेशन के माध्यम से ग्रिड से जोड़ दिया गया है।

इसकी कुल क्षमता 648 मेगा वॉट की है।

करीब 8 महीने में बनाए गए इस पावर प्लान्ट के लिए दुनिया के अलग-अलग देशों से मशीन और जरूरी सामान मंगाए गए। साथ ही 8500 लोगों ने दिन-रात काम कर इसे तय समय-सीमा में बना लिया।

दुनिया का सबसे बड़ा सौर ऊर्जा प्लान्ट होने का गौरव अब तक कैलिफोर्निया के टोपाज सोलर फार्म को हासिल था। इसकी क्षमता 550 मेगावाट की है।

विशेषज्ञ मानते हैं कि कामुधि सोलर पावर प्लान्ट से करीब डेढ़ लाख से अधिक घरों को बिजली की आपूर्ति की जा सकेगी। साथ ही यह प्लान्ट इस बात को सुनिश्चित करेगा कि भारत जल्द ही 10 गीगावाट की क्षमता को छू ले।

सौर ऊर्जा के क्षेत्र में भारत की प्रगति को देखकर कहा जा रहा है कि अगले साल तक चीन व अमेरिका के बाद भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा सौर ऊर्जा बाजार होगा।

भारत सरकार ने वर्ष 2022 तक छह करोड़ से अधिक घरों तक सौर ऊर्जा से बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। वर्ष 2030 तक भारत ने अपनी कुल ऊर्जा जरूरतों का 40 फीसदी हरित टेक्नोलॉजी से हासिल करने का लक्ष्य रखा है।

दुनिया के इस सबसे बड़े सौर ऊर्जा प्लान्ट को 5 हजार एकड़ की जमीन पर बनाया गया है। इसमें अदानी समूह करीब 4550 करोड़ रुपए का निवेश किया है।

Facebook Discussions