पाक धर्मगुरु ने कहा- चार जंग लड़ने वाले भारत-पाकिस्तान दुश्मन नहीं

author image
3:58 pm 21 Mar, 2016

पाकिस्तान के शक्तिशाली धर्मगुरु मोहम्मद ताहिर उल कादरी ने वर्ल्ड सूफी फोरम में भारत और पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की गुजारिश की।

Kadri

वर्ल्ड सूफी फोरम में धर्मगुरु मोहम्मद ताहिर उल कादरी prabhatkhabar

उन्होंने दोनों देशों से अपने आपसी मतभेदों को ख़त्म करने के प्रयास पर जोर दिया। वहीं उन्होंने आतंकवाद को जड़ से ख़त्म करने के लिए दोनों देशों के इस दिशा में कदम उठाने की बात कही। कादरी ने कहा:

“जहां भी आतंकवाद है, जहां भी जड़ें हैं, जहां भी समूह हैं, सभी को इसका पता है। भारत और पाकिस्तान दोनों को साझा कार्रवाई करनी चाहिए। जब तक आतंकवाद खत्म नहीं किया जाएगा, क्षेत्र विकास से वंचित रहेगा।”

भारत और पाकिस्तान के जटिल संबंधों के बारे अपनी बात रखते हुए धर्मगुरु ने कहा:


“आजादी मिले हुए करीब 70 साल होने को हैं। इस बीच चार युद्ध हुए। क्या भारत और पाकिस्तान हमेशा दुश्मन बने रहना चाहते हैं? भगवान के लिए यह दुश्मनी खत्म कर दीजिए। लोग एक-दूसरे के दुश्मन नहीं हैं। दोनों मुल्कों की यह लड़ाई खत्म होनी चाहिए। ऐसा तब संभव है, जब सरकारें शांति कायम रखने और गरीबी मिटाने की दिशा में बजट का इस्तेमाल करेंगी। मैं भारत-पाकिस्तान की सरकारों से अपील करता हूं कि गरीबी मिटाने के लिए प्रयास करें, दुश्मनी भूल जाएं।”

कादरी ने विश्व सूफी फोरम में कहा कि भारत और पाकिस्तान को यह बात समझनी होगी कि उनका एक ही दुश्मन है और वो है आंतकवाद। उन्होंने इस बात पर ज़ोर दिया कि जो नकारात्मक ताकतें दोनों मुल्कों के युवाओं को हथियार उठाने, उन्हें कट्टर बनने के लिए उकसा रही हैं, ऐसे लोगों को बक्शा नहीं जाना चाहिए।

“जहां भी आस्था और धर्म के नाम पर आतंकवाद को बढ़ावा दिया जाता है, उसे राजद्रोह की कार्रवाई माना जाना चाहिए। भारत और पाकिस्तान को धार्मिक कट्टरता की काट करने वाले पाठ्यक्रम स्कूलों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों, मदरसों और धार्मिक संस्थाओं में शुरु करना चाहिए, ताकि गलत तत्व युवकों का ब्रेनवॉश नहीं कर सकें और धर्म के नाम पर उन्हें हथियार उठाने तथा गलत काम करने के लिए प्रेरित नहीं कर सकें।”

कादरी ने अमन-शान्ति जैसे मुद्दों पर दोनों मुल्कों को जोर देने को कहा। जिससे दोनों देशों के लोगों में एक दूसरे के प्रति  सद्‍भाव के भाव को बढ़ावा मिले।

Discussions



TY News