देशभर में जारी है गर्मी का कहर, तापमान पहुंच गया 50 के पार

author image
5:22 pm 20 May, 2016

मई में इस साल गर्मी सारे रिकॉर्ड तोड़ रही है। इस समय देश के आधे से ज़्यादा राज्य भीषण गर्मी की चपेट में है। मध्यप्रदेश, राजस्थान, दिल्ली और महाराष्ट्र में बढ़ते तापमान ने लोगों को घरों में समेट दिया है।

देशभर में गर्मी से 14 लोगों की मौत हो गई जिसमें छह नवजात शामिल हैं।


मौसम विभाग के अनुसार, 23 और 24 मई को एक वेस्टर्न डिस्टरबेंस एक्टिव होता दिख पड़ रहा है। जिस कारण बारिश होने की आसार कम नजर आ रहे है। बादल छा जाने अनुमान है।

ऐसे में हवा में नमी की मात्रा बढ़ने से चिपचिप करने वाली गर्मी लोगों को परेशान कर सकती है।

देश की राजधानी दिल्ली में गर्मी का कहर जारी है। यहां गुरुवार को तापमान 43.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आने वाले अगले पांच दिनों तक दिल्ली के लोगों को गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद कम है। कड़ी धुप और गर्म हवा के थपेड़ों का सामना लोगों को करना पड़ रहा है।

वहीं राजस्थान के चुरू में अधिकतम तापमान 50 डिग्री को पार कर गया है, जो अब तक का सर्वाधिक तापमान है। चुरु में पहली बार तापमान 50.2 डिग्री दर्ज किया गया।

उत्तर प्रदेश की बात करे तो, यहां का भी वही हाल है। उत्तर प्रदेश के अधिकतर क्षेत्रों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया है। बुंदेलखंड सहित कई क्षेत्रों में तो यह पारा 47.2 डिग्री तक पहुंच गया। प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में भीषण गर्मी के चलते सात लोगों की मौत हो चुकी है।

मध्य प्रदेश का हाल भी बेहाल है। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में अधिकतम तापमान 45.6 रहा। यहां उज्जैन में पारा 43.5 डिग्री के आसपास रहा। अनुमान लगाया गया है कि यहां के कई जिलों में धूलभरी आंधी चल सकती है। वहीं इंदौर में तापमान 44 डिग्री पार कर गया। मध्य प्रदेश में दो लोगों के मौत की खबर है।

इस गर्मी के चपेट से देवभूमि उत्तराखंड भी नहीं बच पाई है। यहां सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में 18 मई से छुट्टी देने को कहा गया है।

गर्मी ने गुजरात के अहमदाबाद में भी अपना सितम ढहाया। यहां तापमान ने 48 डिग्री को छू लिया। बीते 100 साल में यहां पहली बार तापमान 48 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। शहर के एक आंकड़े के मुताबिक, इससे पहले 27 मई 1916 को शहर का तापमान 47.8 डिग्री दर्ज किया गया था।

Discussions



TY News