जिस लड़ाकू विमान को पाकिस्तान नहीं पा सका, भारत में बनेगा वह फाइटर प्लेन

author image
4:14 pm 5 Aug, 2016


अब अमेरिकी कंपनी लॉकहिड मार्टिन अपने लड़ाकू विमान एफ-16 के मुख्य कारखाने को टेक्सास से भारत में शिफ्ट करना चाहती है। प्रधानमंत्री मोदी के ख़ासा ‘मेक इन इंडिया’ अभियान की ओर यह एक बड़ा कदम है।

आपको बता दें कि एफ-16 वही विमान है, जिस पर पाकिस्तान की नजरें थी। पाकिस्तान ने अमेरिका से एफ-16 खरीदने की पहल की थी, लेकिन अमेरिकी सांसदों की पाकिस्तान को इस विमान को देने की मनाही के बाद इस डील पर रोक लगा दी गई थी।

कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि कंपनी ने इस बारे में भारत सरकार को औपचारिक प्रस्ताव दे दिया है।

लॉकहिड मार्टिन कंपनी के अधिकारी रैंडी हावर्ड ने कहा:

‘हमने भारतीय रक्षा मंत्रालय को इस बारे में औपचारिक प्रस्ताव दिया है। अगर भारत सरकार इसे मान लेती है तो कंपनी 36 महीने बाद भारत के कारखाने में एफ-16 लड़ाकू विमान की सबसे अडवांस किस्म ब्लॉक-70 का प्रॉडक्शन करना शुरू कर देगी। इसमें अडवांस आएसा रेडार और अन्य इलेक्ट्रानिक वॉर सिस्टम लगे होंगे। यह विमान की चौथी और पांचवीं जेनरेशन के बीच का मॉडल है। फिलहाल एफ-16 की फोर्थ जेनरेशन चल रही है।’


इसके अलावा कंपनी ने भारत के कारखाने को ही एक्सपोर्ट का मुख्य केंद्र बनाने का भी प्रस्ताव सामने रखा है। अगर इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल जाती है तो भारत से ही दुनियाभर के देशों में एफ-16 भेजा जाएगा।

आपको बता दे कि भारतीय वायुसेना के 126 विमानों के टेंडर में F-16 विमान ने भी भाग लिया था। लेकिन भारत ने फ्रांस के 36 रफेल को खरीदने का निर्णय लिया था। भारत के इसी निर्णय के बाद पाकिस्तान ने अमेरिका से एफ-16 खरीदने की अपनी पहल को तेज किया था।

लेकिन इस योजना के लागू होने में एक पेंच भी है कि भारत में एफ-16 का कारखाना तभी लगेगा, जब भारतीय वायुसेना की ओर से एफ-16 खरीदे जाएंगे।

Popular on the Web

Discussions



  • Co-Partner
    Viral Stories

TY News