भारत को मिली बड़ी सफलता, विकसित किया कुष्ठ रोग का पहला टीका

author image
12:04 pm 26 Aug, 2016


कुष्ठ रोग से बचाव की दिशा की ओर भारत ने बड़ी कामयाबी हासिल कर ली है। नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ इम्यूनोलॉजी के संस्थापक व निदेशक जीपी तलवार के मुताबिक कुष्ठ रोग से निजात पाने के लिए दुनिया का पहला टीका विकसित कर लिया गया है।

इस टीके को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) और अमेरिका की FDA ने मंजूरी दे दी है।

आने वाले कुछ ही हफ़्तों में इस टीके को बिहार और गुजरात के 5 जिलों में उपलब्ध कराया जाएगा।

vaccine

सांकेतिक तस्वीर Twitter

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च की निदेशक डॉक्टर सौम्या स्वामीनाथन ने बतायाः

“कुष्ठ के लिए यह पहला टीका है। भारत वह पहला देश है जहां इतने बड़े स्तर पर कुष्ठ के लिए टीकाकरण कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है। परीक्षण में पाया गया है कि अगर कुष्ठ रोगियों के करीबी संपर्क में रहने वाले लोगों को यह टीका दिया जाए, तो 3 साल के अंदर ही कुष्ठ मामलों में 60 फीसद कमी लाई जा सकती है। अगर कुष्ठ के कारण किसी की त्वचा जख्मी हो गई है, तो यह टीका उसके ठीक होने की रफ्तार भी बढ़ा देगा।”

उधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नाड्डा ने कहा कि इस टीकाकरण योजना को देश भर में इस बिमारी से बुरी तरह ग्रस्त जिलों में लागू किया जाएगा।

vaccine

lifeandtrend


केंद्र सरकार ने देशभर के सर्वाधिक कुष्ठ प्रभावित 50 जिलों में घर-घर जाकर मरीजों की पहचान का काम शुरू कर दिया है और अगले चरण में तमिलनाडु के इरोड जिले सहित इस महामारी से बुरी तरह ग्रस्त 165 जिलों में मरीजों की पहचान की जाएगी। अब तक करीब 7.5 करोड़ लोगों की जांच हो चुकी है, जिनमें से करीब 5,000 लोगों के कुष्ठ रोगी होने की पुष्टि हुई है।

नाड्डा ने कहाः

“हम किसी को भी छोड़ना नहीं चाहते हैं। जो कुष्ठ रोग से पीड़ित पाए गए हैं, उन्हें इलाज मुहैया कराई जाएगी। इन रोगियों के संपर्क में रहने वालों को संक्रमण से बचाने के लिए दवा दी जाएगी।”

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के अनुसार, 2013-14 से भारत में करीब 1.27 लाख लोग कुष्ठ रोग का शिकार हुए है। लेकिन टीके की मदद से अब इसे काफी हद तक कम किया जा सकेगा।

उम्मीद करते है कि भारत द्वारा किया गया यह आविष्कार कुष्ठ रोग से पीड़ित लोगों के लिए वरदान साबित होगा।

Popular on the Web

Discussions



  • Viral Stories

TY News