500 रुपये में शादी करके इस IAS जोड़े ने दी सादगी की बेहतरीन मिसाल

2:09 pm 30 Nov, 2016


नोटेबंदी का असर हर वर्ग, हर व्यवसाय यहां तक त्योहारों और विभिन्न सामाजिक कार्यक्रमों पर भी पड़ा है। जेब खाली का दुखड़ा रोते हुए आजकल हर कोई मिल जाएगा। ऐसे में नोटेबंदी ने शादियों के इस मौसम पर भी भारी असर डाला है। भारत में शादियों का मतलब तो आप जानते ही हैं। ख़र्चीले तामझाम के साथ-साथ उम्दा मेहमानबाज़ी, जिसमें पैसा पानी की तरह बहाया जाता है। जिनके घर में शादी थी, उनके उपर तो जैसे पहाड़ टूट पड़ा हो। ऐसे में दो आर्इएएस अधिकारियों ने अपनी शादी के जरिए मिसाल पेश की है।

मध्य प्रदेश के भिंड में दो आईएएस अफसरों ने बेहद सादगी से मात्र 500 रुपये में शादी करके एक उदाहरण पेश किया है।

2014 बैच के आईएएस अफसर आशीष वशिष्ठ और सलोनी सड़ाना ने सोमवार को भिंड कोर्ट में कोर्ट मैरेज की। कलेक्टर इलैया राजा टी और एसपी नवनीत भसीन समेत कई अधिकारी इस शादी के गवाह बने। आशीष वशिष्ठ के मुताबिक इस शादी में सिर्फ 500 रुपये खर्च हुए।

अपनी शादी पर आशीष बताते है कि हम दोनो ही चाहते थे कि हमारी शादी अनोखी हो। हालांकि, आशीष वशिष्ठ और सलोनी एक दूसरे को ट्रेनिंग के वक़्त से जानते हैं। मसूरी के लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन में ट्रेनिंग के दौरान नजदीकियां बढ़ीं तो उन्होंने शादी का फैसला कर लिया। आशीष को पहली पोस्टिंग मध्यप्रदेश में मिली, तो सलोनी को आंध्रप्रदेश जाना पड़ा। फिर इस जोड़े ने विवाह बंधन में बंधने की सोची।


दोनों की पोस्टिंग अलग-अलग कैडर में है। आशीष जहां भिंड के गोहद में प्रोबेशनरी आर्इएएस के रूप में एसडीएम हैं, वहीं सलोनी प्रोबेशनरी आर्इएएस के रूप में विजयवाड़ा में एसडीएम हैं। आशीष बताते हैं कि शादी से पहले हमें इसका रजिस्ट्रेशन कराना था। तभी दोनों की पोस्टिंग एक कैडर में हो सकती है, इसलिए, सोमवार को हमने एसडीएम कोर्ट में रजिस्टर्ड मैरिज की।

आपको बता दें कि दोनों ने 2013 में सिविल सर्विस की परीक्षा पास की थी। आशीष मूल रूप से राजस्थान के रहने वाले हैं, जबकि उनकी पत्नी सलोनी पंजाब से हैं। शादी के बाद अब सलोनी को नियमों के तहत मध्य प्रदेश कैडर मिल सकता है। उन्होंने बताया कि शादी पूरी तरह साधारण थी। उपस्थित स्टाफ समूह ने इस मौके पर नवदंपति को बधाई दी।

Discussions