सिर्फ 12 महीने में स्वदेशी प्रशिक्षण विमान तैयार कर इतिहास रचा भारत ने

author image
9:03 pm 18 Jun, 2016


मेक इन इंडिया परियोजना के तहत तैयार किया गया भारत का पहली स्वदेशी प्रशिक्षण विमान ‘हिंदुस्तान टर्बो ट्रेनर-40’ (एचटीटी-40) ने शुक्रवार को अपनी पहली उड़ान भरी।

Manohar Parrikar

 

इस खास मौके पर रक्षा मंत्री मनोहर परिकर भी मौजूद थे।

दो सीटों वाले इस एयरक्राफ्ट का डिजाइन हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) ने तैयार किया है। तीनों सेनाओं के सभी फ्लाइंग कैडेट्स के लिए पहले स्तर का प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए एचटीटी-40 का इस्तेमाल किया जाएगा।

एचटीटी-40 के विस्तृत डिजाइन चरण को अगस्त 2013 में पेश किया गया था और यह HAL के आंतरिक वित्तपोषण से हुआ था और मई 2015 में पूरा हुआ था। इसके बाद से पहले प्रोटोटाइप के उड़ान भरने के लिए 12 माह का समय लगा था। भारतीय वायु सेना के 70 एसटीटी-40 विमान खरीदने का अनुमान हैं।


Aircraft

 

पर्रिकर ने HAL की टीम को बधाई देते हुए कहा कि युवा टीम ने सिर्फ एक साल के कम समय में इस एयरक्राफ्ट को तैयार किया और उड़ने लायक बना दिया।

इस एयरक्राफ्ट में करीबन 80 फीसद उपकरण स्वदेशी हैं। वहीं, करीब 50 फीसद उपकरण निजी कंपनियों द्वारा तैयार किए गए है। ये एयरक्राफ्ट निजी कंपनियों और छोटे उद्यमियों के साझा प्प्रयासों का सफल नतीजा है।

Discussions



TY News