धनराज पिल्लै ने भारतीय हॉकी को दिलाई अंतर्राष्ट्रीय पहचान, कायम किया अपना दबदबा

author image
3:37 pm 16 Jul, 2016


भारतीय हॉकी के दिग्गज खिलाड़ी और पूर्व कप्तान धनराज पिल्लै का साल 1968 में 16 जुलाई को जन्म हुआ।

धनराज ने 1989 में अपने अंतर्राष्ट्रीय हॉकी करियर की शुरुआत की। उन्होंने 1989 से 2004 के बीच 330 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले।

भारतीय हॉकी फेडरेशन ने अपनी ओर से पिल्लै के गोल्स का आधिकारिक रिकॉर्ड नहीं रखा है। लेकिन, खुद पिल्लै का कहना है कि उन्होंने अपने करियर में करीब 170 गोल किए।

पिल्लै एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने भारत की तरफ से चार बार ओलंपिक, चार बार एशियाई खेलों और चार विश्व कप में भाग लिया है।

1998 के बैंकॉक एशियाई खेलों में, पिल्लै सबसे ज्यादा गोल दागने वाले खिलाड़ी बने थे।

dhanraj

zevenworld


पिल्लै की कप्तानी में भारत ने 1998 में एशियाई खेल और 2003 में एशिया कप अपने नाम किया था।

भारतीय हॉकी को उनके योगदान के लिए उन्हें राजीव गांधी खेल रत्न और पद्मश्री से भी नवाजा गया।

वह इंग्लैंड, फ्रांस, मलेशिया, बांग्लादेश जर्मनी और हांगकांग के विदेशी क्लबों के लिए भी खेले।

Discussions



TY News