अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने वाला कोच अब साइकिल पर कपड़े बेचने को मजबूर

author image
9:01 pm 13 Sep, 2016


हाल ही में संपन्न हुए रियो ओलंपिक में आपने भारतीय महिला हॉकी टीम की उपकप्तान निधि खुल्लर को खेलते हुए देखा होगा। लेकिन बहुत ही कम संभावना है कि आप इस खिलाड़ी को प्रशिक्षित करने वाले कोच मुहम्मद इमरान के बारे में भी जानते होंगे।

तो आपको बता दें इमरान 50 से भी अधिक हॉकी खिलाड़ी, जिनमें से आठ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी खेल चुके हैं, को प्रशिक्षित कर चुके हैं। लेकिन अफ़सोस आज यह हॉकी का द्रोणाचार्य दर-दर की ठोकरे खाने को मजबूर है।

 

फर्टिलाइजेशन कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया की तरफ से हॉकी के कई मैच खेलने और जीतने वाले मुहम्मद इमरान अब उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के सड़कों पर आजीविका के लिए कपड़े बेचने पर विवश हैं। दस साल से भी ज़्यादा हॉकी खेल चुके इमरान ने राष्ट्रीय स्तर पर 1974 में अपने हॉकी करियर की शुरुआत की थी। उसके बाद 1987 से उन्होंने खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने का ज़िम्मा उठा लिया था।

twitter

twitter


कभी हॉकी के जादूगर ध्यानचंद ने खुद ट्रेन किया था, आज घूम-घूमकर ट्रैक सूट बेचने को हैं मजबूर।

हॉकी के जादूगर ध्यानचंद से प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके इमरान अपने कोचिंग के हुनर से देश को रीता पांडे्य, रजनी चौधरी, संजीव ओझा, प्रतिमा चौधरी, जनार्दन गुप्ता जैसे कई बेहतरीन हॉकी खिलाड़ी दे चुके हैं। लेकिन अब इमरान सड़कों पर घूम-घूमकर ट्रैक सूट बेचने को मजबूर हैं, ताकि उनका घर-परिवार चल सके और वह अपनी बेटी की शादी कर पाएं।

मात्र एक हज़ार की पेंशन पाने वाले इमरान इन सब के बावजूद आज भी हॉकी से अपना मोह त्याग नही पाए हैं। वे आज भी खिलाडिय़ों को समय निकाल कर ट्रेनिंग देने पहुंच जाते हैं।

Popular on the Web

Discussions



  • Viral Stories

TY News