दहशत की वजह से हुआ हिन्दुओं का पलायन, NHRC ने भी माना

12:57 pm 22 Sep, 2016


उत्तर प्रदेश के कैराना शहर से डर व दहशत की वजह से हिन्दुओं का पलायन हुआ है। इस बात की जानकारी राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) की रिपोर्ट में दी गई है। इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि वर्ष 2013 में मुजफ्फरनगर दंगों के बाद कैराना में मुस्लिम आबादी में बढ़ोत्तरी हुई और इस वजह से यहां जनसंख्या का अनुपात बदल गया। NHRC की इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद इस मुद्दे पर कड़वाहट बढ़ सकती है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मुस्लिम युवक हिन्दू महिलाओं के साथ छेड़छाड़ करते हैं। इन मुस्लिम युवकों का आतंक इतना अधिक है कि पीड़ित हिन्दू परिवार पुलिस तक शिकायत करने जाने से बचते हैं।

रिपोर्ट में एक कश्यप परिवार की महिला के साथ गैंगरेप और फिर उसकी हत्या किए जाने का मामला भी उठाया गया है। NHRC की रिपोर्ट में इस बात की तस्कीद की गई है कि परिजनों की शिकायत और अपराध की गंभीरता के बावजूद पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। इस रिपोर्ट में दो हिन्दू व्यापारियों की हत्या के मामले को भी शामिल किया गया है।

माना जा रहा है कि पिछले दो साल में कैराना शहर से रंगदारी, फिरौती और गुंडागर्दी की वजह से 346 परिवार अपने-अपने घरों में ताला लगाकर भाग गए हैं। ये सभी परिवार हिन्दू समुदाय से हैं। अधिकतर व्यापारी लोहा, सर्राफा और हार्डवेयर से जुड़े थे। इन व्यापारियों से जबरन वसूली की गई। धमकाया गया और बाद में घर, प्रतिष्ठान छोड़ने पर मजबूर किया गया।

पिछले दिनों कैराना से भारतीय जनता पार्टी के सांसद हुकुम सिंह ने घरबार छोडकर भागने वाले 346 परिवारों की सूची के अलावा 10 ऐसे लोगों की सूची जारी की थी, जिनकी हत्या रंगदारी न देने पर कर दी गई। उन्होंने पलायन कर रहे लोगों की तुलना कश्मीरी पंडितों से करते हुए कहा था कि कैराना में हालात बद से बदतर हैं।

कैराना के मामले में सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता मोनिका की तरफ से राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में शिकायत दर्ज कराई गई थी।

इस शिकायत के बाद ही आयोग ने एक जांच कमेटी का गठन किया था। कमेटी ने कैराना के अलावा शामली, पानीपत, मुजफ्फरनगर और अन्य स्थानों पर जाकर अपनी जांच की और रिपोर्ट को तैयार किया है।

अब इस मामले में NHRC ने यूपी के उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक और मुख्य सचिव को 8 सप्ताह में रिपोर्ट देने के लिए कहा है।

भाजपा सांसद का अल्टीमेटम

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि भाजपा सांसद हुकुम सिंह ने कैराना में व्यापारियों से रंगदारी मांगने वालों की गिरफ्तारी नहीं होने पर आंदोलन का अल्टीमेट दिया है। सांसद ने बदमाशों की गिरफ्तार के लिए प्रशासन को पांच दिन का समय दिया है। यहां व्यापारियों से रंगदारी मांगने के कई मामले सामने आए और इस वजह से पुलिस प्रशासन के प्रति व्यापारियों में भारी नाराजगी है।

Discussions