अब इस्लामिक स्टेट के निशाने पर है पश्चिम बंगाल, सुरक्षा कड़ी

author image
11:09 am 3 Jul, 2016

अब पश्चिम बंगाल इस्लामिक स्टेट के निशाने पर हो सकता है। इस संबंध में सतर्कता बरती जा रही है।

हाल के दिनों में पश्चिम बंगाल में एक के बाद एक बम विस्फोट की घटनाओं में बांग्लादेशी आतंकवादी समूहों के हाथ होने के प्रमाण मिले हैं। यही वजह है कि ढाका में इस्लामिक चरमपंथियों के हमले के बाद यहां अतिरिक्त सतर्कता बरतने के लिए कहा जा रहा है।

पश्चिम बंगाल में रेड अलर्ट जारी है। बांग्लादेश से सटे क्षेत्र नदिया, मुर्शिदाबाद, मालदा और उत्तर 24 परगना में सीमा पर विशेष अभियान चलाया जा रहा है। बांग्लादेशी आतंकवादियों के सीमा पार पश्चिम बंगाल में प्रवेश के मद्देनजर सीमा सुरक्षा बल को विशेष रूप से सतर्क रहने के लिए कहा गया है।

सीमा के आसपास के गांवों में भी पुलिस तलाशी अभियान चला रही है। बेनापोल, हिली, मोहदीपुर, चेंगड़ाबांधा, पेट्रापोल सहित कई इलाकों में चौकसी बढ़ा दी गई है।

भारत आने वाले बांग्लादेशी नागरिकों पर विशेष नजर रखी जा रही है।

इसी क्रम में हावड़ा के छोटे-छोटे होटलों के रजिस्टरों की जांच की जा रही है। कोलकाता के होटलों पर भी खुफिया विभाग की पैनी नजर है। शहर के भीड़भाड़ वाले इलाकों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

हाल के दिनों में इस्लामिक स्टेट के 54 संदिग्धों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इन्हें देश के अलग-अलग हिस्सों से गिरफ्तार किया गया है।

इसी साल मार्च महीने में इस्लामिक स्टेट से जुड़े होने के आरोप में पुलिस ने 18 लोगों को गिरफ्तार किया था। इसमें दुर्गापुर का 19 वर्षीय पोलिटेक्निक छात्र आशिक अहमद भी था। आशिक अहमद ने स्वीकार किया था कि वह इस्लामिक स्टेट से प्रभावित रहा है और इस आतंकवादी संगठन के लिए काम कर रहा था।

आशिक अहमद के खिलाफ चार्जशीट इसी महीने में दायर की जा सकती है।

इस बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बांग्लादेश की राजधानी ढाका में शुक्रवार की रात हुए आतंकी हमले की निंदा की है। इस हमले में एक भारतीय लड़की सहित 20 विदेशी नागरिकों की हत्या की गई थी।


ममता ने ट्वीट कियाः

Discussions



TY News