गुड़गांव का नाम बदल कर हो जाएगा गुरु ग्राम, मेवात का भी बदलेगा नाम

author image
8:36 pm 12 Apr, 2016

हरिणाया सरकार ने गुड़ंगांव और मेवात जिलों के नाम बदलकर गुरुग्राम और नूह करने का फैसला किया है। राज्य की भाजपा सरकार का कहना है कि लोगों की यह मांग काफी अर्से से लंबित रही थी।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने दोनों जिलों के नाम बदलने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। वहीं, विपक्षी कांग्रेस पार्टी ने राज्य सरकार पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एजेन्डे को आगे बढ़ाने का आरोप लगाया है।

इससे पहले भी खट्टर सरकार शहर के नाम बदलने को लेकर विपक्ष के निशाने पर आ चुकी है। सरकार ने यहां के यमुनानगर जिले का नाम मुस्तफाबाद से सरस्वती नगर कर दिया था।

राज्य सरकार का कहना है कि गुरुग्राम का जिक्र महाभारत में भी है। यही वह स्थान है, जहां गुरु द्रोणाचार्य कौरव और पांडवों को शस्त्र और शास्त्र की शिक्षा दिया करते थे। इसलिए इस शहर का नाम गुरु ग्राम होना चाहिए।

भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि लोग लंबे समय से चाहते थे कि गुड़गांव का नाम बदलकर गुरुग्राम कर दिया जाए।

गौरतलब है कि हरियाणा का गुड़गांव जिला औद्योगीकरण के लिए जाना जाता है। यहां करीब 500 से अधिक देशी-विदेशी कंपनियों के दफ्तर हैं। यहां की आबादी 70 लाख के करीब है।

गुड़गांव के नाम को बदलने को लेकर ट्वीटर पर जैसे महाभारत छिड़ गई है।


औद्योगिक और आधुनिक कहे जाने के बावजूद गुड़गांव तमाम समस्याओं से ग्रस्त है। अब यह तो वक्त ही बताएगा कि गुड़गांव से गुरुग्राम होने पर यहां क्या बदलाव देखने को मिलेगा।

Discussions



TY News