मिलिए उन ‘शेरनी’ माताओं से जिन्होने वीर क्रांतिकारी सपूतों को जन्म दिया

author image
12:50 pm 15 Aug, 2016


“मां मेरी लाश लेने आप मत आना, कुलबीर को भेज देना वरना आपको रोता देख लोग कहेंगे देखो भगत सिंह की मां रो रही है।”

भगत सिंह अक्सर ही यह बात मज़ाक में अपनी मां से कहा करते थे। इस बात में भगत सिंह का वो जज़्बा भी दिखता था कि उनके रगों में देशभक्ति लहू बन कर दौड़ती है। एक लंबी लड़ाई, हजारों कुर्बानियां और तमाम जुल्मों-सितम के बीच भारत माता की कोख हमेशा ही वीर सपूतों से फली-फूली रही। लेकिन क्या आप उन शहीद क्रांतिकारी सपूतों की उन माताओं को जानतें हैं, जिन्होने उनको जन्म दिया?

मां कैसी भी हो, वे अनमोल होती हैं, लेकिन यह मैं निश्चित रूप से कह सकता हूं कि जिन माताओं ने भारत के इन वीर सपूतों को जन्म दिया वे ज़रूर असाधारण रही होंगी। अक्सर ही सवाल ज़ेहन में आता है कि कैसे कोई मां यह जानते हुए भी कि जिस मंज़िल की तलाश में उसका कलेजा सफ़र पर निकल रहा है, उसका अंज़ाम सिर्फ़ शहीदी है, फिर भी वह माथे पर तिलक लगा कर खुशी-खुशी जंग में भेजती है? ऐसी मां दरअसल ममता के रूप में शेरनी होती हैं।

तो आइए मिलते हैं ऐसी ही शेरनी माताओं से जिन्होंने अपने कोख से वीर क्रांतिकारी सपूतों को जन्म दिया। जिनकी कोख से ‘आज़ाद भारत’ का जन्म हुआ।

शहीद भगत सिंह की माताजी स्वर्गीय विद्यावती कौर

स्वर्गीय विद्यावती कौर ऐसे जाट सिख परिवार से थीं, जिसने भारत को महान क्रांतिकारी सपूत दिए। उनकी शादी किसन सिंह से हुई थी जो खुद भी क्रांतिकारी थे। वह एक ऐसे क्रांतिकारी परिवार की गवाह रहीं जिसमें उन्होने अपने ससुर, पति, देवर और बेटे को देश के लिए बलिदान होते देखा था।

अमर शहीद चन्द्रशेखर आजाद की पूज्य  माता जगरानी देवी

माता श्रीमती जगरानी देवी भारत माता के लिए शहीद होने वाले इस महान सपूत शहीद चन्द्र शेखर आजाद को जन्म देने वाली माता थीं। आज़ाद सहित उनके पांचों पुत्र भारत माता को गुलामी की बेड़ियों से मुक्त करने के लिए काल कलवित हो गए थे।

शहीद राजगुरु की माताजी पार्वती बाई

blogspot

blogspot


मराठी परिवार में जन्मे राजगुरु का जज़्बा किसी मराठा से कम नही था। हालांकि जब राजगुरु मात्र 6 साल के ही थे तभी उनके  पिता का स्वर्गवास हो गया था।  भगत सिंह तथा सुखदेव के साथ राजगुरु ने भी लाहौर सेण्ट्रल जेल में फांसी के तख्ते पर झूल कर अपने नाम को हिन्दुस्तान के अमर शहीदों की सूची में अहमियत के साथ दर्ज किया था। ऐसे महापुरुष की माताजी का नाम पार्वती बाई था।

सुखदेव की माताजी रल्ली देवी

 

सुखदेव भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक प्रमुख क्रान्तिकारी थे। सुखदेव भगत सिंह की तरह बचपन से ही आज़ादी का सपना पाले हुए थे।  और जिस माता ने इनके सपनो को कभी धूमिल नही होने दिया उस मां का नाम था रल्ली देवी। अपनी कोख से ऐसे वीर सपूत को जन्म देने के लिए शत-शत नमन।

नेताजी की माता प्रभावती देवी।

नेताजी सुभाषचन्द्र बोस को शायद ही ऐसा कोई हो जो नही जानता हो। भारत के आज़ादी में नेता जी की महत्वपूर्ण भूमिका किसी से छुपी नही है। ऐसे महान संतान को जन्म देने वाली उनकी माता जी का नाम प्रभावती देवी था।

 

Discussions



TY News