फेसबुक का फ्री बेसिक्स बदला पेड प्लेटफॉर्म में, अब कुछ भी FREE नहीं

author image
3:47 pm 11 Feb, 2016


फेसबुक का विवादास्पद ‘फ्री बेसिक्स’ अब फ्री नहीं रहा। फेसबुक की भारतीय पार्टनर रियालन्स कम्युनिकेशन्स (RCom) ने इसे पेड प्लेटफॉर्म बनाने का फैसला किया है।

दरअसल, ट्राई ने हाल ही में, फेसबुक की इस विवादास्पद योजना को झटका देते हुए इन्टरनेट कम्पनियों को अलग-अलग कीमतों पर सेवा उपलब्ध कराने की इजाज़त नहीं दी थी।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, रियालन्स कम्युनिकेशन्स ने यह फैसला ट्राई के फैसले के तुरन्त बाद लिया था। इस मामले में फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने निराशा जताई थी। ट्राई के फैसले के बाद, जुकरबर्ग ने कहा थाः

“हम फैसले से निराश तो हैं, लेकिन हम भारत और दुनिया में इन्टरनेट कनेक्टिविटी के आड़े आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम सभी लोगों तक इन्टरनेट मुहैया होने तक काम करते रहेंगे।”

इस रिपोर्ट के मुताबिक, रियालन्स कम्युनिकेशन्स के प्रवक्ता ने फ्री बेसिक्स को पेड प्लेटफॉर्म में बदले जाने की पुष्टि की है। प्रवक्ता के मुताबिकः

“ट्राई के फैसले का पूरी तरह से पालन करते हुए आरकॉम ने पहले ही फ्री बेसिक्स को नया स्वरूप (पेड मे बदलने) की प्रक्रिया शुरू कर दी है। यह हमारे ग्राहकों के लिए मौजूदा डेटा प्लान के मुताबिक होगा।”

hindustantimes

hindustantimes


गौरतलब है फेसबुक ने इस विवादास्पद योजना के लिए प्रचार में करीब 150 करोड़ रुपए खर्च किए थे। यही नहीं, इसके लिए करीब 10 लाख से फेसबुक यूजर्स का समर्थन भी जुटा लिया गया था।

फ्री बेसिक्स के खिलाफ भी जोरशोर से अभियान चलाया गया था।

इससे पहले ट्राई के फैसले और इससे फ्री बेसिक्स स्कीम अटकने के बाद फेसबुक के एक बोर्ड डायरेक्टर के ट्वीट से विवाद छिड़ गया। मार्क एंड्रीसन नामक एस अधिकारी ने ट्वीट कर कहा था कि भारत में ब्रिटिश राज ही रहता तो अच्छा होता।

विवाद बढ़ने के बाद उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया। एंड्रीसन इस बात से भड़क गए है क्योंकि लाख कोशिशों के बावजूद फ्री बेसिक्स भारत में काम नहीं कर सका।

बाद में फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने एंड्रीसन के इस ट्वीट पर अफसोस जताया और कहा कि भारत ही वह देश है जहां से वे सबसे ज्यादा इंस्पायर हुए।

Discussions



TY News