किसान के इस बेटे ने योग की दुनिया में मचाया तहलका, बनाया विश्व रिकॉर्ड

2:48 pm 21 Nov, 2016


हरिद्वार के रहने वाले चंचल सूर्यवंशी ने एक अनोखा विश्व रिकॉर्ड कायम करने का दावा किया है। हरिद्वार के देवसंस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज में पढ़ने वाले एमएससी के छात्र चंचल ने लगातार 134 मिनट तक शीर्षासन किया।

यह अद्भुत कारनामा चंचल ने विश्वविद्यालय के प्रार्थना सभागार में प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पंड्या और डॉ. ज्ञानेश्वर मिश्र (एमडी) की मौजूदगी में किया। शीर्षासन के बाद चिकित्सकों की टीम ने चंचल के स्वास्थ्य की जांच की और वह पूरी तरह स्वस्थ हैं।

इस कारनामे के साथ ही विश्वविद्यालय के प्रशासन का कहना है कि चंचल ने 134 मिनट तक जो शीर्षासन किया है, वह एक विश्व रिकॉर्ड है। वहीं, अब जल्द ही लिम्का बुक और गिनीज बुक में चंचल का नाम दर्ज कराने के लिए दावा किया जाएगा।

मूलरूप से मध्य प्रदेश के बैतूल से ताल्लुक रखने वाले चंचल के पिता गणपति सूर्यवंशी किसान हैं। चंचल 2012 में पढ़ाई के लिए हरिद्वार आए और 12वीं के बाद आगे की पढ़ाई के लिए देव संस्कृति विश्वविद्यालय को चुना। तब से लेकर अब तक चंचल नियमित तौर पर शीर्षासन करते हैं।

chanchal

pradesh18

चंचल बताते हैं कि वर्ष 2015 में इसी विश्वविद्यालय के एक छात्र ने लगातार 90 मिनट तक शीर्षासन किया, यहीं से उनको प्रेरणा मिली। साथ ही विश्वविद्यालय के अध्यापकों ने भी उन्हें भरपूर सहयोग दिया।

छात्र चंचल ने कहाः

“कुलाधिपति डॉ. प्रणव एवं कुलपति शरद पारधी की प्रेरणा एवं प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय के मार्गदर्शन ने मुझे इस दिशा में आगे बढ़ने में सहयोग किया। मैं सभी का आजीवन आभारी रहूंगा। मेरे कोच व योग शिक्षक डॉ. सुनील यादव एवं योग विभागाध्यक्ष डॉ. सुरेश वर्णवाल के सहयोग के बिना 134 मिनट तक शीर्षासन नहीं कर पाता।”

चंचल बताते है कि वह शुरू से ही पढ़ाई में औसतन थे, यही वजह थी कि याददाश्त को बढ़ाने के उद्देश्य से उन्होंने इस विश्वविद्यालय को चुना, क्योंकि याददाश्त बढ़ाने के लिए ध्यान एवं योग ही सबसे अच्छा उपाय है।

चंचल भविष्य में योग के क्षेत्र में ही रिसर्च कर इसे दुनिया के हर कोने तक पहुंचाने की ख्वाहिश रखते हैं।

Discussions