‘धोनी के पूल में रोज इस्तेमाल होता है 15 हजार लीटर पानी, हमें नहीं मिलता पीने के लिए’

author image
5:00 pm 21 Apr, 2016

टीम इन्डिया के क्रिकेटर महेन्द्र सिंह धोनी के स्विमिंग पूल को लेकर स्थानीय लोगों में नाराजगी है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, लोगों का आरोप है कि इस मोहल्ले में पीने का पानी उपलब्ध नहीं है, जबकि धोनी के स्विमिंग पूल में प्रत्येक दिन 15 हजार लीटर से अधिक का पानी इस्तेमाल हो रहा है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि इस इलाके की हालत महाराष्ट्र के लातूर सरीखी हो गई है। यहां बोलवेल से पानी नहीं निकल रहा है और नहीं सरकार की तरफ से पानी बांटने की कोई व्यवस्था की गई है।

धोनी के स्विमिंग पूल का विरोध कर रहे लोगों के एक समूह ने झारखंड के राजस्व मंत्री अमर कुमार बाउरी से मुलाकात की है और उनसे इस बात की शिकायत की है।


लोगों का कहना है कि उन्हें पीने को पानी नहीं मिल रहा और धोनी के स्विमिंग पूल में पानी भरा रहता है, जबकि वे बहुत कम वक्त के लिए रांची आते हैं। उनके घर में दस से अधिक लोग भी नहीं रहते। लोगों का कहना है कि जब धोनी के स्विमिंग पूल में पानी का इंतजाम हो रहा है, जबकि पांच हजार की आबादी वाले यमुनानगर की परवाह किसी को नहीं है।

हालांकि, क्रिकेटर धोनी के करीबियों ने इन आरोपों को गलत बताया है। उनका कहना है कि स्विमिंग पूल में हर समय पानी नहीं भरा रहता, बल्कि जब कभी धोनी आते हैं, तब स्विमिंग पूल में पानी होता है।

उनका यह भी दावा है कि इसके लिए किसी का हक या हिस्सा मारकर पानी नहीं लिया जाता।

Discussions



TY News