कुली कर रहे हैं PM मोदी की मुहीम का समर्थन, पैसे नहीं तो मुफ्त में उठाएंगे बुजुर्गों का बोझ

1:23 pm 17 Nov, 2016


जब से देशभर में बड़े नोट बंद हुए हैं, लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना कर पड़ रहा है। अचानक 500 और 1000 के नोटों के बंद होने के साथ ही लोगों के पास छोटे नोट की कमी हो गई है।

नोटबंदी और छुट्टे पैसों की इस मार से यात्रियों का सामान उठाने वाले कुली भी परेशान हैं। लेकिन इसी कड़ी में रायपुर के कुली पीएम मोदी के काले धन पर लगाम कसने और भ्रष्टाचार को खत्म करने के मकसद से उठाए गए नोटबंदी के निर्णय का समर्थन कर रहे हैं, साथ ही मानवता की एक अनोखी मिसाल भी पेश कर रहे हैं।

इन कुलियों का कहना है कि बुजुर्ग यात्री के पास खुल्ले पैसे न होने की स्थिति में उनका सामान वे मुफ्त में उठाएंगे।

coolie

ganvwale/a>

एक स्रोत से  बात करते हुए यात्रियों का बोझ उठाने वाले डी. आप्पा राव कहते हैं कि रोजाना कई ऐसे बुजुर्ग यात्री आते हैं जिनके पास छुट्टे पैसे नहीं होते, ऐसे में वह मानवता के नाते उनका सामान उठाकर उनकी सहायता करते हैं।

आगे वह कहते हैं कि कुली देश की सेवा करने के लिए सीमा पर तो तैनात नहीं हो सकते, लेकिन मौजूदा हालात को देखते हुए वह इसी सेवा को देश की सेवा समझ यह नेक कार्य करते रहेंगे।

Discussions