दोनों हाथ नहीं हैं, फिर भी बन गया चैम्पियन साइकिलिस्ट

author image
6:27 pm 18 Feb, 2016

क्या आप बिना दोनों हाथों के कभी साइकिल चलाने की कल्पना कर सकते हैं? आपका जवाब निश्चित रूप में नहीं में होना चाहिए। लेकिन इस देश में एक साइकिलिस्ट ऐसा भी है, जिसके दोनों हाथ नहीं हैं, फिर भी चैम्पियन बन गया है।

7

जी हां, पंजाब के पटियाला के छोटे से गांव में रहने वाले जगविन्दर सिंह ने ऐसा कारनामा कर दिखाया है, जिसके बारे में जानकर सभी दांतों तले अंगुली दबा रहे हैं।

10

जगविन्दर के जन्म से ही दोनों हाथ नहीं हैं, लेकिन उनकी यह शारीरिक चुनौती साइकिल चलाने के आड़े नहीं आई। वह न केवल तेजी से साइकिल चला सकते हैं, बल्कि कई साइकिल चैम्पियन्स को मात भी दे चुके हैं।

8

बिना हाथों के जगविन्दर सिर्फ साइकिल ही नहीं चलाते, बल्कि मोबाइल और लैपटॉप जैसे गैजेट्स का इस्तेमाल करने के लिए भी वह दूसरों की मदद नहीं लेते।

11

यही नहीं, वह पेटिंग भी करते हैं और हाथों की कमी कभी महसूस नहीं होने देते।


4

इस रिपोर्ट के मुताबिक, जगविन्दर का जब जन्म हुआ तो उनके माता-पिता चिन्तित थे। उन्हें लग रहा था कि जगविन्दर की जिन्दगी कैसे चलेगी। लेकिन बड़ा होने के साथ-साथ जगविन्दर ने शारीरिक चुनौती को पीछे छोड़ दिया।

9

एक आंकड़े के मुताबिक, देश में शारीरिक चुनौतियों से जूझने वालों की संख्या 2.68 करोड़ है, जो देश की कुल आबादी का 2.21 फीसदी है।

3

ऐसे में जगविन्दर उन लोगों के लिए एक मिसाल बन कर उभरे हैं, जो शारीरिक चुनौतियों से जूझ रहे हैं।

6

फोटो साभारः YouTube

Discussions



TY News