बिहार टॉपर घोटाले का सरगना गिरफ्तार, 5 दिन से छापे मार रही थी पुलिस

author image
4:39 pm 11 Jun, 2016


बिहार टॉपर घोटाले का मास्टरमाइंड बच्चा राय को पुलिस ने शनिवार की सुबह गिरफ्तार कर लिया। पुलिस उसकी तलाश में पिछले पांच दिनों से छापेमारी कर रही थी। राय पर आरोप है कि वह छात्रों से पैसे लेकर उन्हें टॉप कराता था। अमित कुमार उर्फ बच्चा राय बैशाली जिले के भगवानपुर में स्थित बिशुन राय कॉलेज का प्रिंसिपल है।

बताया गया है कि इस घोटाला का सूत्रधार कहे जाने वाला बच्चा राय कॉलेज में मीडिया के सामने आत्मसमर्पण करने आया था। उसने खुद को बेगुनाह बताया है। बच्चा राय की गिरफ्तारी के बाद पुलिस अब बिहार बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद सिंह की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है।

यह है मामला।

बिहार में 12वीं की परीक्षा में बैशाली के बीआर कॉलेज के छात्र सौरभ श्रेष्ठ, राहुल कुमार और रूबी राय ने अलग-अलग संकाय में टॉप किया था। विज्ञान में टॉपर सौरभ और कला विभाग में टॉपर रूबी राय पत्रकारों के सामान्य प्रश्न का जवाब भी नहींं दे सके थे।

मीडिया फुटेज में रूबी राय ने पॉलिटिकल साइन्स को प्रोडिकल साइन्स बताया, वहीं सौरभ को विज्ञान की सामान्य जानकारी भी नहीं थी।

ibnlive

ibnlive


मीडिया में इस पर बवाल होने के बाद बिहार बोर्ड ने पिछले 3 जून को 1 से 5 रैंक तक टॉप किए छात्रों को साक्षात्कार के लिए बुलाया था। रूबी राय ने इस साक्षात्कार में हिस्सा नहीं लिया, वहीं सौरभ ने किसी सवाल का जवाब देने से मना करते हुए कहा कि उससे अगर कुछ पूछा गया तो वह आत्महत्या कर लेगा।

बच्चा राय पर आरोप है कि उसकी बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद और अन्य अधिकारियों के साथ मिलीभगत थी।

पटना विश्वविद्यालय के पूर्व प्रोफेसर लालकेश्वर प्रसाद लंबे समय से विवादों में रहे हैं। उन्हें पटना कॉलेज का प्रिन्सिपल बनाया गया था। लगातार विवादों में रहने की वजह से उन्हें पद छोड़ देना पड़ा था।

बाद में नौकरी से रिटायर होने के बाद उन्हें वर्ष 2014 में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति का चेयरमैन पद दिया गया। लालकेश्वर प्रसाद की पत्नी डॉ. उषा सिन्हा विधायक रह चुकी हैं।

Popular on the Web

Discussions