पटना बोर्ड ऑफिस में मिलीं शराब की खाली बोतलें, चल रही है टॉपर्स की परीक्षा

author image
3:58 pm 3 Jun, 2016


“बिहार में बहार है।” अब तक हम यह जुमला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मुंह से सुनते आ रहे थे। अब यही जुमला उनके गले की फांस बनता दिख रहा है। दरअसल, हाल दिनों में बिहार में एक के बाद एक ऐसे वाकये सामने आए हैं, जिनसे यह साबित हुआ है, बिहार में बहार तो दूर की बात है, यह राज्य गर्त में जा रहा है।

यह पटना बोर्ड ऑफिस का दृश्य है। बिहार में शराबबंदी है, लेकिन बोर्ड ऑफिस में शराब पीने पर कोई बंदी-पाबंदी नहीं है। इस फोटो में (बाईं तरफ) आप देख सकते हैं कि गार्ड खाली बोतलें ले जा रहा है।

दरअसल, मौका था बिहार के टॉपर्स की ‘अग्नि परीक्षा’ का। 12वीं कक्षा के साइन्स और आर्ट्स टॉपर्स के साक्षात्कार के बाद उपजे विवाद के बीच, बोर्ड ने रैंक 5 तक के सभी टॉपर्स को आज तलब किया था।

जागरण की इस रिपोर्ट के मुताबिक, ये छात्र जब विशेष परीक्षा देने पहुंचे, तब बोर्ड ऑफिस का गार्ड शराब की खाली बोतलें फेकने जा रहा था, लेकिन उसकी यह हरकत कैमरे में कैद हो गई।

बिहार बोर्ड की बिगड़ती हालत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि राज्य में पाबंदी के बावजूद बिहार बोर्ड के हेड ऑफिस के बाहर शराब की बोतलें बरामद हुई हैं।

indread

indread


फिलहाल, बताया गया है कि आज पहुंचे आर्ट्स और साइन्स के टॉपर्स से प्रत्येक विषय से पांच-पांच सवाल पूछे जाएंगे। इसके लिए 25 प्रश्नों का एक सेट तैयार किया गया है।

छात्रों की लिखावट जांचने के लिए उनसे एक निबंध भी लिखवाया जाएगा।

इस कमेटी में तीन अध्यापक शामिल किए गए हैं, जो निष्पक्ष इम्तिहान करवाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। कमेटी में पटना और मगध विश्वविद्यालय के 12 प्रोफेसर भी शामिल हैं। सभी 15 विशेषज्ञ इन छात्रों की परीक्षा लेंगे।

गौरतलब है कि बिहार बोर्ड में 12वीं की परीक्षा में टॉप करने वाले छात्रों के रिजल्ट पर रोक लगा दी गई है।

पिछले सोमवार को समाचार चैनलों ने 12वीं में टॉप करने वाले छात्रों की असलियत का खुलासा किया था। इन छात्रों को अपने विषय की सामान्य जानकारी भी नहीं थी।

Popular on the Web

Discussions



  • Co-Partner
    Viral Stories

TY News