108,000 पौधे लगा भूटान ने मनाया राजकुमार के जन्म का जश्न

author image
5:01 pm 12 Mar, 2016

भूटान की जनता ने 108,000 पौधे लगा कर अपने नए राजकुमार के जन्म का जश्न मनाया है। गत 5 फरवरी को भूटान में नए युवराज का जन्म हुआ था। इस बात की जानकारी शाही दंपति ने अगले दिन शनिवार को पूरी दुनिया को दी थी। नरेश जिग्मे खेसर नाम्गयेल वांगचुक और उनकी पत्नी जेतसन पेमा की यह पहली संतान है।

मार्च महीने की शुरुआत में हजारों भूटानी नागरिकों ने अपने नए राजकुमार के स्वागत के रूप में एक साथ मिलकर 108,000 पौधे लगाए। नवजात के जन्म पर पौधे लगाना बौद्ध संस्कृति का एक अभिन्न अंग माना जाता है।

द डिप्लोमैट की खबर के मुताबिक प्रधानमंत्री शेरिंग तोबगे तथा उनके तीन अन्य मंत्रियों, व विपक्ष के नेता सहित 1 लाख से अधिक स्वयंसेवियों ने पिछले 6 मार्च को देशभर में वृक्षारोपण किया।

इस पूरे कार्यक्रम को संयोजित करने वाले तेनजिन लेकफेल ने बताया कि बौद्ध धर्म में वृक्ष को जीवन का प्रतीक माना गया है। उनके मुताबिक, यह महज संयोग नहीं है कि भगवान बुद्ध को एक बरगद के वृक्ष के नीचे दिव्य ज्ञान की अनुभूति हुई थी।

यह पूछे जाने पर कि 108,000 पौधे ही क्यों लगाए गए, लेकफेल ने बताया कि बौद्ध धर्म में 108 की संख्या को बेहद शुभ माना गया है।

गौरतलब है कि बौद्ध धर्म की ही तरह हिन्दू धर्म में भी 108 की संख्या को बेहद शुभ माना जाता है।


पिछले साल जून महीने में 100 स्वयंसेवियों ने सिर्फ 1 घंटे में तराई इलाके में 49,672 पौधे लगाकर विश्व रिकॉर्ड कायम किया था। यह गिनेज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज है।

Discussions



TY News