चीन के 13वें सबसे बड़े शहर से भी तुलना करने लायक नहीं है बेंगलुरू

9:35 pm 30 Mar, 2016


बेंगलुरू को भले ही हम भारत के आईटी कैपिटल के रूप में जानते हैं, लेकिन आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि यह शहर चीन के 13वें सबसे बड़े शहर जियान से भी पिछड़ा हुआ है। खासकर सड़क व परिवहन के मामले में।

बेंगलुरू की सड़कें बेहद खराब हैं।

बेंगलुरू के इंडियन इन्सटीट्यूट ऑफ साइंस के टी वी रामचन्द्र ने अपनी एक रिसर्च प्रोजेक्ट में यह बात कही है।

व्यापक शहरीकरण के दौर में चीन और भारत ने लगभग एक ही समय जियान और बेंगलुरू को रिसर्च एंड डेवलपमेन्ट केन्द्र के तौर पर विकसित करना शुरू किया था।

जियान की एक सड़क।

जियान शहर में इस समय 10 लाख से अधिक कारें हैं, जबकि बेंगलुरू शहर में 14 लाख कारें हैं। यहां करीब 30 लाख से अधिक दोपहिया वाहन भी हैं। बेंगलुरू शहर में सड़क पर गाड़ी चलाना चुनौतियों से भरा है। यहां की औसत गति सीमा 15 किलोमीटर प्रतिघंटा से भी कम है।

जियान में पब्लिक ट्रान्सपोर्ट बेहद बढ़िया है। जबकि बेंगलुरू में लोग अपने व्यक्तिगत गाड़ियों पर भरोसा करते हैं। यही वजह है कि बेंगलुरू में रहने वाले काम पर जाने के लिए औसत 7.09 किलोमीटर का रास्ता तय करते हैं, लेकिन जियान में यह औसत 3.8 किलोमीटर का है।


बेंगलुरू का एक व्यस्ततम इलाका।

इस रिसर्च प्रोजेक्ट पर काम करने वाले रामचन्द्र मानते हैं कि जब तक पब्लिक ट्रान्सपोर्ट को दुरुस्त नहीं किया जाता, तब तक बेंगलुरू की हालत में भी सुधार की कोई गुंजाइश नहीं है।

रामचन्द्र कहते हैं कि बेंगलुरू शहर के बस सिस्टम पर भरोसा नहीं किया जा सकता है और सड़कों की हालत वाकई बेहद खराब है। जबकि तुलनात्मक रूप से चीन के जियान में बस के लिए लेन्स बनाए गए हैं, जिससे यहां बसें समय पर चलती हैं।

पब्लिक ट्रान्सपोर्ट सिस्टम मजबूत है जियान में।

Popular on the Web

Discussions



  • Viral Stories

TY News