प्रतिदिन प्राणायाम करने के ये हैं 15 फायदे

3:16 pm 25 Nov, 2016


प्राणायाम का शाब्दिक अर्थ अपने अंदर की प्राण ऊर्जा को बढ़ा है। प्राण का अर्थ है, जो हमें शक्ति प्रदान करता है। वहीं, आयाम के तीन अर्थ है पहला दिशा और दूसरा योगानुसार नियंत्रण या रोकना, तीसरा- विस्तार या लम्बायमान होना। इसका तात्पर्य है कि प्राण को सही गति प्रदान करने को ही प्राणायाम कहते हैं।

श्वास को धीमी गति से गहरी खींचकर रोकना व बाहर निकालना प्राणायाम के क्रम में आता है।

प्रायाणाम का अभ्यास करने वाले में श्वास खींचने के साथ ही यह भावना होनी चाहिए कि प्राण शक्ति, श्रेष्ठता श्वास के द्वारा अंदर खींची जाए तथा छोड़ते वक्त यह भावना हो कि हमारे दुर्गुण, बुरे विचार प्रश्वास के साथ बाहर निकलें।

रोजाना प्राणायाम करने वालों को ये 15 फायदे होते हैं।

1. हृदय की मजबूती।

प्राणायाण से हृदय को मजबूती मिलती है। यह प्रक्रिया रक्तचाप को घटाने में मदद करता है साथ ही हृदय संबंधी बीमारियों को दूर करता है।

2. वजन पर नियंत्रण।

नित्य प्राणायम करने वालों का वजन नियंत्रित रहता है। ऑक्सीजन की अधिकता फैट्स यानी वसा को कम करने में मददगार साबित होती है।

3. तनाव होता है कम।

लगातार प्राणायाम कर तनाव में कमी की जा सकती है। इससे मानसिक दबाव कम होता है, और हाईपरटेन्शन से मुक्ति मिलती है। तनाव को कम करने का यह सबसे बेहतरीन साधन है।

4. एकाग्रता में वृद्धि।

प्राणायाम की नित्य क्रिया मस्तिष्क की एकाग्रता और स्थायित्व को बढ़ाता है। ऑक्सीजन की प्रचूरता रक्त को गाढ़ा करती है। प्राणायाम की प्रक्रिया मन को स्थिर बनाता है। मानसिक उद्वेलन इससे नियंत्रित होता है। इससे याददाश्त बढ़ती है।

5. बढ़ती है प्रतिरोधक क्षमता।

जो रोजाना प्राणायाम करते हैं उनका इम्यून सिस्टम अन्य लोगों के मुकाबले मजबूत होता है। यानी, उनमें रोगों से लड़ने की क्षमता अधिक होती है।

6. पाचन तंत्र को मजबूती।

प्राणायाम की वजह से पाचन तंत्र को मजबूती मिलती है। योग की यह प्रक्रिया जातक की पाचन क्रिया को दुरुस्त करता है। इससे ऐसिडिटी, गैस्ट्रिक जैसी पेट की सभी समस्याएं मिट जाती हैं।

7. स्वस्थ त्वचा।

प्राणायाम न केवल अापके अंदरुनी रूप से स्वस्थ रखता है, बल्कि इसका असर आपके बाहरी आवरण यानी त्वचा पर भी पड़ता है। लगातार प्राणायाण करने वाले लोग झुर्रियों से छुटकारा पा सकते हैं। साथ ही आंखों के नीचे का कालापन जाता रहता है।

8. कम होती है शरीर की अतिरिक्त गर्मी।

जिन लोगों को अधिक पसीना आने की शिकायत है उन्हें प्राणायाम करने से आराम मिलता है। यह शरीर की अतिरिक्त गर्मी को कम करता है।

9. सांस संबंधी बीमारियों में फायदा।

प्राणायाम फेफड़ों की क्षमता बढ़ती है। इससे फेफड़े स्वस्थ और मजबूत होते हैं साथ ही सांस संबंधी बीमारियों में फायदा होता है।

10. अवसाद से मुक्ति।

प्राणायाम से चिन्ता और अवसाद से मुक्ति मिलती है। अगर व्यक्ति लगातार प्राणायाम करे तो लंबे समय से चल रहा अवसाद भी खत्म हो जाता है।

11. विषहरण।

प्राणायाम आपके शरीर में रासायनिक तत्त्वों का असर कम करता है और शरीर स्वस्थ होता है। इससे एलर्जी खत्म होती है।

12. सर्दी की शिकायत से मुक्ति।

नियमित प्राणायाम करने से सर्दी की शिकायत दूर होती है। जिन लोगों को साइनोसाइटिस की शिकायत है, वह प्राणायास से फायदा ले सकते हैं।

13. बालों की समस्याओं का समाधान।

प्राणायाम करने वालों को बाल गिरने या झरने की समस्या से दो-चार नहीं होना पड़ता। नियमित प्राणायाम कर इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

14. पौरुष में बढ़ोत्तरी।

प्राणायाम से पौरुष में बढ़ोतरी होती है। इससे संतानहीनता दूर होती है और लोग सुखद पारिवारिक जीवन जी सकते हैं।

15. आध्यात्मिक विकास।

प्राणायाम से आध्यात्मिक विकास होता है। यह योग की उच्च क्रियाओं के धारण, ध्यान और समाधि में मददगार होता है।

Discussions