इस्लामिक स्टेट के इन 21 क्रूर कानून के बारे में जानकर आपकी रूह कांप जाएगी।

author image
4:26 pm 18 Nov, 2015

इस्लामिक स्टेट एक ऐसा आतंकवादी संगठन है, जिसका नाम सुनते ही कंपकपी से आ जाती है। यह इतना क्रूर है कि आतंकवादी संगठन अलकायदा, जिसने शुरू में इसका समर्थन किया था, ने भी इससे अलग होना उचित समझा। इस्लामिक स्टेट का उद्येश्य हथियार के बल विश्व पर नियंत्रण करने का है। इराक और सीरिया में रहने वाले लाखों लोग इस्लामिक स्टेट के क्रूर और निर्मम कानून के दायरे में रहकर किसी तरह अपना जीवन बिता रहे हैं।


हम यहां बात करेंगे उन 2 1 निर्मम नियमों की जो इस्लामिक स्टेट में आम है। अगर आप अपने देश के नियम-कायदे से परेशान हैं, तो एक बार इस्लामिक स्टेट के कायदों पर नजर डालिए। यकीन मानिए, अाप शिकायत करना छोड़ देंगे।

1. पश्चिमी हेयरकट पर पाबन्दी है। यहां दाढ़ी जरूरी है। आप क्लीन शेव्ड नहीं रह सकते हैं। यहां आपको खोजने से भी सैलून नहीं मिलेगा।

2. महिला रोगियों का इलाज सिर्फ महिला चिकित्सक ही कर सकती हैं, वह भी बुर्के में पूरी तरह ढंकी हुई।

3. दिन में पांच बार नमाज के समय सभी दुकान, दफ्तर पर तालाबंदी।

4. यहां महिलाओं का अकेले बाहर निकलना मना है। किसी पुरुष संबंधी के बिना बाहर निकलने वाली महिलाओं को इस्लामिक स्टेट के कर्मचारी अपनी हिरासत में ले लेते हैं। यही नहीं, उनके पतियों को 80 कोरों की सजा दी जाती है।

5. इस्लाम का त्याग करने वालों या अधार्मिक होने को यहां सबसे बड़ा अपराध माना जाता है। इसकी सजा के तौर पर सिर कलम कर दिया जाता है।

6. यहां के लोग इस्लामिक स्टेट को ‘दायेश’ कह कर नहीं बुला सकते। ऐसा करने वालों को पत्थर मारकर मौत की सजा दी जाती है।

7. यहां किसी तरह की  कब्र या पूजा स्थली की मनाही है। इन्हें नष्ट कर दिया जाता है।

8. काफिरों (जो इस्लाम को नहीं मानते) को बन्दी बना लिया जाता है और उनका धर्मान्तरण कर दिया जाता है।

9. शादीशुदा लोगों के लिए यौन व्यभिचार की सजा पत्थर मारकर मौत होती है। अविवाहित होने की स्थिति में 100 कोरे मारने की सजा का प्रावधान है।

10. इस्लामिक स्टेट में ड्रग्स, शराब और सिगरेट पर पाबन्दी है। शराब पीते हुए पकड़े जाने की स्थिति में 80 कोरे मारने की सजा का प्रावधान है। यहां संगीत सुनने या बजाने पर भी कोरे पड़ते हैं।

11. महिलाओं से कहा जाता है कि वे घर में रहें, जब तक कि बाहर जाना एकदम से जरूरी न हो जाए।

12. चोरी की सजा के रूप में यहां हाथ काट दिए जाते हैं। डकैतों को शूली पर लटका दिया जाता है।

13. इस्लामिक स्टेट में गे लोगों के लिए कोई जगह नहीं है। पकड़े जाने पर सजा मौत है। जी हां, उन्हें ऊंची इमारत की छत से नीचे फेंक दिया जाता है।

14. किसी भी पब्लिक प्लेस में महिलाएं कुर्सी पर नहीं बैठ सकतीं।

15. महिलाओं को हमेशा निकाब और बुर्के में रहना होता है।

16. रसायन शास्त्र और फ्रेन्च जैसे विषय के बदले यहां इस्लामिक और धार्मिक विषय पढ़ाए जाते हैं।

17. इस्लामिक स्टेट में गुलामी के कानून की मान्यता मिली हुई है। काफिरों को गुलाम बना कर रखा जा सकता है।महिलाओं की खरीद-फरोख्त आम है।

18. यहां बेहद कम उम्र की बच्चियों के साथ शादी जायज है।

19. काफिरों से बलात्कार कानूनी रूप से सही है।

20. इस्लामिक स्टेट के लिए लड़ रहे बच्चों पर उम्र सम्बन्धी कोई पाबन्दी नहीं है।

21. काफिरों की हत्या कानूनन सही है।

Discussions



TY News