ढाकाः कुरान की आयतें सुनाने वालों को छोड़ दिया, बाकी 20 की धारदार हथियार से हत्या

author image
7:02 pm 2 Jul, 2016

ढाका के डिप्लोमेटिक जोन वाले इलाके के एक रेस्टोरेन्ट में हुए आतंकवादी हमले में नया खुलासा हुआ है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, इस्लामिक आतंकवादियों ने बंधकों से कुरान की आयतें सुनाने के लिए कहा था।

जिन लोगों ने उन्हें कुरान की आयतें सुना दी उन्हें न केवल छोड़ दिया गया, बल्कि खाना भी खिलाया गया।

शुक्रवार की रात को इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने इस रेस्टोरेन्ट पर हमला कर करीब 40 लोगों को बंधक बना लिया था।

प्रत्यक्षदर्शी हसनत करीम के मुताबिक, जिन लोगों ने कुरान की आयतें सुना दीं, उन्हें जाने दिया गया, बाकी 20 लोगों की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई।

हसनत ने कहाः

“आतंकवादी हर किसी से कुरान की आयत सुनाने को कह रहे थे, ताकि मुस्लिमों की पहचान की जा सके। जिन्हें कुरान की आयत याद थी, उन्हें अलग कर दिया गया। बाकियों को टॉर्चर किया गया।”


भारत में रह रहीं बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन ने ट्वीट किया।

बाद में इस्लामिक स्टेट की समाचार एजेन्सी अमाक ने रेस्टोरेन्ट के अंदर की तस्वीरें जारी की थी। साथ ही दावा किया था कि 20 बंधकों की हत्या कर दी गई है।

बताया गया है कि आतंकवादियों ने शुक्रवार की रात 9 बजे के करीब हमले को अंजाम दिया। वे अंधाधुंध फायरिंग करते हुए यहां घुसे। इस दौरान वे ‘अल्लाहू अकबर’ और नारा-ए-तकबीर का नारा लगा रहे थे।

Discussions



TY News