बड़ा फैसलाः लालबत्ती का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे केंद्रीय मंत्री और अधिकारी

author image
5:34 pm 19 Apr, 2017

अब केन्द्रीय मंत्री और अधिकारी लाल बत्ती वाली गाड़ी में नहीं मिलेंगे। केन्द्र सरकार ने केन्द्रीय मंत्रियों व अधिकारियों द्वारा लाल, नीली बत्ती के इस्तेमाल पर अंकुश लगाने का बड़ा फैसला लिया है। यह फैसला अगले 1 मई यानी मजदूर दिवस के दिन से लागू होगा। इसके लिए मोटर व्हीकल एक्ट में बदलाव किया जाएगा। यह फैसला राज्यों पर भी लागू होगा।

सरकार के इस नए फैसले के मुताबिक, न तो केंद्र में और न ही किसी राज्य में कोई लाल बत्ती का इस्तेमाल कर पाएगा। हालांकि, आपातकालीन सेवा वाली गाड़ियों को नीली बत्ती के इस्तेमाल की छूट दी गई है।

इस फैसले पर तुरंत प्रभाव से अमल करते हुए सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने अपनी गाड़ी से लाल बत्ती हटवा दी है।

केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि सिर्फ आपात सेवाओं को नीली बत्ती इस्तेमाल करने की इजाजत होगी।

माना जा रहा है कि वीआईपी कल्चर खत्म करने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद गंभीर हैं। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी भी लाल बत्ती की गाड़ी में नहीं चलेंगे।

वर्ष 2013 के सितंबर महीने में सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में लाल बत्ती के सीमित इस्तेमाल की पैरवी की थी। हाल ही में केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय की तरफ से एक रिपोर्ट प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजी गई थी।

गडकरी ने तब से चल रही प्रक्रिया, विभिन्न मंत्रालयों के साथ हुए पत्राचार, कानूनी राय और अब तक मिले सुझावों का ब्योरा भी प्रधानमंत्री कार्यालय भेजा था, जिसके बाद यह फैसला लिया गया है।

Discussions



TY News