सियाचिन में बर्फीले तूफान की चपेट में आए 10 जवान, सर्च ऑपरेशन जारी

author image
8:25 pm 3 Feb, 2016

सियाचिन में बर्फीले तूफान की चपेट में आकर भारतीय सेना के 10 जवानों के लापता होने की खबर है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक 19 हजार फुट की उंचाई पर आर्मी कैंप के पास बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे के करीब बर्फीला तूफान आया था, जिसमें गश्ती पर निकले 10 जवान फंस गए। थल सेना और वायु सेना की टीम राहत और बचाव कार्यों में लगी हुई है।

इन जवानों में जूनियर कमीशंड ऑफिसर रेंक का अधिकारी और 9 जवान शामिल हैं। पिछले महीने की 3 तारीख को हिमालयन रेंज के लद्दाख में आए बर्फीले तूफान में फंसकर सेना के 4 जवान शहीद हो गए थे।

सियाचिन दुनिया का सबसे ऊंचा युद्ध क्षेत्र है और सामरिक रूप से भारत के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। यह ऐसा युद्ध क्षेत्र है, जहां दुश्मनों की गोलीबारी से ज्यादा मौसम की मार से अधिक सैनिकों को खराब मौसम से जूझना होता है।


रिपोर्टः सियाचिन में हमारे जवानों के बारे में ये 15 बातें जान के आप भाव विभोर हो उठेंगे

5, 400 मीटर की (लदाख और कारगिल से दोगुनी) ऊंचाई पर स्थित समर के इस मैदान पर भारतीय सैनिकों को सिर्फ पाकिस्तानी सेना पर ही नजर नहीं रखनी होती, बल्कि अपनी शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक क्षमता की बदौलत ड्यूटी करनी होती है।

सर्दियों के महीने में यहां का अधिकतम न्यूनतम -50 डिग्री तक हो जाता है, जहां रहने के बारे में कल्पना भी नहीं की जा सकती है।

यहां ड्यूटी बजाने वाले सैनिक आम नहीं होते, बल्कि सुपर सैनिक होते हैं।

Discussions



TY News