चीन की आपत्ति दरकिनार कर भारतीय सेना ने लद्दाख में बिछा दी एक किलोमीटर लंबी पाइपलाइन

author image
2:28 pm 7 Nov, 2016


भारतीय सेना के इंजीनियर्स ने चीन के विरोध के बावजूद लद्दाख के डेमचोक इलाके में पानी का पाइपलाइन बिछाने का कार्य पूरा कर लिया है।

चीन की पीपल्स आर्म्ड पुलिस फोर्स (PAPF) ने इस पाइप लाइन के निर्माण कार्य पर आपत्ति जताई थी।

इस पाइपलाइन की परियोजना के तहत लद्दाख क्षेत्र में लेह से 250 किलोमीटर दूर डेमचोक गांव में ग्रामीणों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराया जाएगा।

चीनी सैनिकों ने इस निर्माण का विरोध कर इसे रोकने की चेतावनी दी थी। लेकिन चेतावनी को सेना के इंजीनियरों ने पूरी तरह से नजरअंदाज कर पाइपलाइन बिछाने का काम पूरा किया।

pipeline

financialexpress


इस पाइपलाइन को लेकर 2 नवम्बर से भारत-चीन के जवानों के बीच तनातनी जारी थी। भारत तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के 70 और चीन के 55 सैनिक कई घंटे तक आमने-सामने रहे। इस रिपोर्ट के मुताबिक, चीन ने इस बार डेमचोक इलाके में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास PAPF को तैनात किया था जबकि सामान्य तौर पर  इस इलाके में  पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) की तैनाती रहती है।

चीनी समकक्षों ने इस पाइप लाइन के निर्माण को दोनों देशों के बीच हुए समझौते का उल्लंघन  बताया था। जिसपर भारत की ओर से सफाई दी गई कि निर्माण से पहले दोनों देशों की सहमति का नियम केवल सामरिक श्रेणी के निर्माण पर ही लागू होता है।

दोनों पक्षों के बीच की यह तनातनी की स्थिति 5 नवम्बर को जाकर खत्म हुई।

Discussions



TY News