कश्मीर में तनाव के चलते अमरनाथ यात्रा बाधित, यात्रियों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया गया

author image
3:56 pm 11 Jul, 2016


आतंकवादी बुरहान वानी के सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में मौत के बाद उपजी हिंसा की वजह से अमरनाथ यात्रा आज तीसरे दिन भी स्थगित है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, बीते तीन दिन से जारी हिंसा, प्रदर्शन और पुलिस कार्रवाई में अब तब 21 लोगों के मारे जाने की खबर है।

करीबन 15,000 तीर्थयात्री भारी संख्या में जम्मू में फंसे हुए हैं और घाटी जाने का इंतजार कर रहे हैं, ताकि वो अपनी यात्रा शुरू कर सकें।

किसी भी तीर्थ यात्री को उनकी सुरक्षा को देखते हुए घाटी की ओर जाने की अनुमति नहीं दी गई है। वहीं, प्रशासन द्वारा मोबाइल इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है। स्कूल बोर्ड की परीक्षा को भी फिलहाल रद्द कर दिया गया है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि किसी भी यात्री को जम्मू शहर के भगवती नगर यात्री निवास से घाटी की ओर जाने की इजाजत नहीं है। अधिकारी के मुताबिक, घाटी में कानून और व्यवस्था की स्थिति को देखते हुए यात्रा को निलम्बित कर दिया गया है।

श्री अमरनाथजी श्रायन बोर्ड (SASB ) कार्यालय के एक अधिकारी ने IANS  को बताया कि रविवार को 8,611 तीर्थयात्रियों ने पवित्र गुफा में बाबा बर्फानी के दर्शन किए। यह वे यात्री थे, जो पहले से ही उत्तरी कश्मीर के बालटाल और दक्षिण कश्मीर पहलगाम के बेस कैम्प में पहुंचे हुए थे।

वहीं करीब 15000 यात्री जम्मू में अभी भी फंसे हुए हैं, जो अमरनाथ यात्रा के लिए जाना चाहते हैं, लेकिन खराब हालात के कारण उन्हें अब तक आगे जाने की इजाज़त नहीं मिली है।


सुरक्षाबलों की तैनाती के साथ ही यात्रियों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया जा रहा है।

पूरी घटना में अब तक कश्मीर में प्रदर्शनकारियों ने चार पुलिस स्टेशनों को आग के हवाले कर दिया, जिसके साथ ही करीबन 40 कार्यालयों पर हमला किया गया। अब तक कश्मीर में जारी हिंसा में घायल हुए लोगों में से 90 से अधिक सुरक्षा कर्मी है।

21 वर्षीय बुरहान वानी के सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में मारे जाने के बाद कश्मीर घाटी में तनाव फैला हुआ है। अमरनाथ यात्रा शनिवार से बाधित है।

Popular on the Web

Discussions