इस स्कूल में राष्ट्रगान गायन पर है प्रतिबंध, विरोध में प्रिंसिपल समेत शिक्षकों ने दिया इस्तीफा

author image
4:27 pm 7 Aug, 2016


आपको यह जानकारी हैरानी होगी कि उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में एक स्कूल में राष्ट्रगान के गायन पर प्रतिबंध लगा हुआ है। इस पर विरोध जताते हुए प्रिंसिपल सहित आठ अध्यापकों ने इस्तीफ़ा दे दिया है।

एमए कॉन्‍वेंट स्कूल के अध्यापकों का कहना है कि राष्ट्रगान गाना उन्हें संविधान से दिया गया मौलिक अधिकार है, लेकिन स्कूल प्रबंधन ने जब उन्हें इसे गाने पर मनाही की तो उन्होंने स्कूल से इस्तीफा दे दिया।

स्कूल के प्रबंधन को राष्ट्रगान में ‘भारत भाग्य विधाता’ के ‘भारत’ शब्द से आपत्ति है। उनका कहना है कि भारत भाग्य विधाता नहीं हो सकता है, अल्लाह के सिवाय और कोई उनका भाग्य विधाता नहीं हो सकता है। भारत भाग्य विधाता का गान करना इस्लाम के खिलाफ है।

प्रबंधन का कहना है कि जब तक राष्ट्रगान में इस पंक्ति में से ‘भारत’ शब्द नहीं हटाया जाता वह स्कूल में राष्ट्रगान गाने नहीं देंगे।

allahabad-school

स्कूल के प्रबंधन जियाउल हक pradesh18


आपको बता दें कि इस स्कूल की स्थापना के बाद से पिछले 12 सालों से इस स्कूल में कभी राष्ट्रगान का गायन नहीं हुआ है।

स्कूल की प्रिंसिपल और अध्यापकों ने जब इस तुगलकी फरमान के खिलाफ आवाज उठाई, तो उन्हें स्कूल से बाहर का रास्ता दिखाने की धमकी दी गई। इस पूरे मामले को लेकर जिला प्रशासन का कहना है कि मामले की जांच कराई जा रही है। इसके बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि नर्सरी से आठवीं तक चल रहा यह स्कूल सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं है।

फिलहाल, प्रिंसिपल सहित अध्यापकों के स्कूल छोड़ने के बाद कई अभिभावक भी अपने बच्चों को इस स्कूल से हटाने की बात सोच रहे हैं।

Popular on the Web

Discussions



  • Viral Stories

TY News