फर्जी तस्वीरों से इस दंपति ने किया एवरेस्ट फतेह का दावा, नेपाल सरकार करेगी कार्रवाई

author image
5:40 pm 8 Jul, 2016


मुम्बई के पर्वतारोही दंपति दिनेश और तारकेश्वरी राठौड़ पर नेपाल सरकार कार्रवाई करेगी। दरअसल, जून महीने के पहले सप्ताह में इस दंपति ने फर्जी तस्वीरों के जरिए यह घोषणा की थी कि उन्होंने एवरेस्ट फतेह कर लिया है।

इन्हीं तस्वीरों को दिखाकर उन्होंने नेपाल सरकार से एवरेस्ट विजय का सर्टिफिकेट भी हासिल कर लिया था।

अब नेपाल सरकार ने कहा है कि वह पूरे मामले की जांच कर रही है। इस पर्वतारोही दंपति को सरकार द्वारा जारी सर्टिफिकेट वापस देने के लिए कहा गया है।

दरअसल, दिनेश और तारकेश्वरी राठौड़ के इन तस्वीरों के सार्वजनिक होने पर कई पर्वतारियों ने इन्हें फर्जी करार दिया।


बताया गया कि ये तस्वीरें बेंगलूरू में काम कर रहे सॉफ्टवेयर कन्सलटेन्ट सत्यरूप की थी, जिसे इस दंपति ने फोटोशॉप से संपादित कर खुद का बता दिया।

सत्यरूप कहते हैंः

“मैं पिछले 21 मई को एवरेस्ट के शिखर तक जाने में कामयाब रहा था। मुझे नहीं पता कि यह परिवार शिखर तक पहुंचा था या नहीं, क्योंकि मैं वहां उस वक्त नहीं था। मैं बस ये चाहता हूं कि इन तस्वीरों को मिसयूज न किया जाए।”

इस तस्वीर में इसी अभियान के दौरान राठौड़ दंपति को दूसरे पोशाक में देखा जा सकता है।

अब नेपाल सरकार ने कहा है कि आगे से यह सुनिश्चित किया जाएगा कि एवरेस्ट फतेह में फर्जीवाड़ा न हो।

Popular on the Web

Discussions