नरेन्द्र मोदी की हत्या करना चाहता था अबू जुंदाल, 11 अन्य भी दोषी

author image
2:38 pm 28 Jul, 2016


इस्लामिक आतंकवादी अबू जुंदाल वर्ष 2006 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (तब गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री) की हत्या करना चाहता था।

उसके निशाने पर विश्व हिन्दू परिषद नेता प्रवीण तोगड़िया भी थे।

औरंगाबाद हथियार मामले में सजा सुनाते हुए मुंबई की मकोका कोर्ट ने अबू जुंदाल सहित 12 को दोषी करार दिया है। जबकि इस मामले में 8 लोग बरी कर दिए गए।

गौरतलब है कि 8 मई 2006 को महाराष्ट्र के औरंगाबाद में हथियारों से भरी गाड़ी पकड़ी गई थी। हथियारों की बरामदगी औरंगाबाद हाईवे पर चंदवाड और मनमाड के बीच दो कारों से हुई थी। इनमें से एक गाड़ी को अबू जुंदाल चला रहा था।

इन कारों से 40 किलो आरडीएक्स, 16 AK 47, 500 ग्रेनेड और 5000 जिंदा कारतूस मिले थे। सैयद जैबुद्दीन अंसारी उर्फ अबू जुंदाल 26/11 मुंबई आतंकवादी हमले के मुख्य आरोपियों में से भी एक है।

इस मामले में गुरुवार को सजा सुनाते हुए मकोका कोर्ट ने कहा कि औरंगाबाद में पकड़े गए हथियारों का इस्तेमाल नरेन्द्र मोदी और प्रवीण तोगड़िया की हत्या करने में किया जा सकता था। यह साजिश वर्ष 2002 के गुजरात दंगों का बदला लिए जाने के लिए रची गई थी। वर्ष 2002 में दंगों के समय गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी थे।


कोर्ट का कहना था कि यह आतंकवादी हमले की बड़ी साजिश थी और दोषी इसे जिहाद बता रहे थे। कोर्ट के मुताबिक, हथियारों का यह जखीरा पाकिस्तान से भेजा गया था।

औरंगाबाद हथियार मामले की सुनवाई वर्ष 2013 से शुरू हुई थी। यह सुनवाई इस साल मार्च में खत्म हुई है।

Popular on the Web

Discussions



  • Co-Partner
    Viral Stories

TY News