भारत में 38 हजार नए करोड़पति बने, 4,000 भारत छोड़कर विदेशों में बसे

author image
11:54 am 31 Mar, 2016


वर्ष 2015 में भारत में 38 हजार नए करोड़पति बने। केपजेमिनी और आरबीसी वेल्थ मैनेजमेंट की सितंबर 2015 की ‘वर्ल्ड वेल्थ रिपोर्ट’ के मुताबिक वर्ष 2014 में भारत में करोड़पतियों की संख्या 1,98,000 थी। अगले ही वर्ष 2015 में यह बढ़कर 2,36,000 हो गई।

यानी, एक साल में देश में करोड़पतियों की संख्या में 38,000 की बढ़ोत्तरी हुई।

करोड़पति से आशय उन व्यक्तियों से है, जिनके पास कम से कम एक मिलियन डॉलर यानी भारतीय मुद्रा में 6.6 करोड़ रुपए की संपत्ति है। इसमें रिहायशी संपत्ति शामिल नहीं है।

4 हजार करोड़पति देश छोड़ कर गए

इस रिपोर्ट का आश्चर्यजनक पहलू यह है कि देश में करोड़पतियों की संख्या में बढ़ोतरी तो हो रही है, देश छोड़कर जाने वालों की संख्या भी कम नहीं है। इसी रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले साल 4,000 करोड़पति भारत छोड़कर चले गए।

हालांकि, दूसरे देशों के करोड़पति भी देश छोड़ रहे हैं। इस सूची में फ्रान्स का नाम सबसे ऊपर है। यहां से करीब 10 हजार करोड़पतियों ने पिछले साल देश छोड़ दिया। वहीं, दूसरे नंबर पर रहने वाले चीन से 9 हजार करोड़पति दूसरे देशों में जाकर बस गए।


14 साल में जा चुके हैं 61 हजार करोड़पति

वर्ष 2015 में न्यू वर्ल्ड वेल्थ ने एक रिपोर्ट में कहा था कि 14 साल में 61 हजार से अधिक करोड़पति भारत से जा चुके हैं। देश छोड़ने के बड़े कारणों में टैक्स से बचना, सुरक्षा और बच्चों की शिक्षा जैसे कारण रहे थे। इसी दौरान चीन से भी 91 हजार करोड़पति दूसरे देशों में बसने गए।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, साम्प्रदायिक तनाव,  धीमी अर्थव्यवस्था की वजह से करोड़पति यूरोपीय देशों से भागकर अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया की तरफ जा रहे हैं।

हाल ही में फ्रान्स के शहरी इलाकों में साम्प्रदायिक तनाव के बाद बड़ी संख्या में करोड़पतियों का पलायन हुआ है।

Popular on the Web

Discussions