सर्जरी के पैसे नहीं थे तो डॉक्टरों ने स्मार्टफोन से बना दिया थ्री डी प्रिंटेड फेस

author image
3:18 pm 3 Nov, 2016


सर्जरी के पैसे नहीं थे तो डॉक्टरों ने स्मार्टफोन से बना दिया थ्री डी प्रिंटेड फेस। यह वाकया हुआ है ब्राजील में। यहां दुनिया का पहला थ्री डी प्रिंटेड फेस ट्रांसप्लान्ट किया गया है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, 54 वर्षीय कार्लिटो को आठ साल पहले मुंह के कैन्सर का पता चला था। इस वजह से उनके चेहरे के दाहिने हिस्से में ट्यूमर हो गया, जो गले से लेकर आंख के ऊपर तक फैल गया। इस वजह से उन्हें आंख भी खोना पड़ गया।

उनकी सर्जरी की गई, लेकिन इसके बाद उनके चेहरे पर एक बड़ा गडढा हो गया। दो बच्चों के पिता कार्लिटो निराश हो गया। लेकिन उनका इलाज कर रहे डॉक्टर रोडरिगो सालाजार अब भी आशावान थे।

डॉक्टर रोडरिगो सालाजार ने स्मार्टफोन की मदद से कार्लिटो के चेहरे के खराब हुए हिस्से को थ्री डी तकनीक से तैयार किया और उसे ट्रान्सप्लान्ट कर दिया।

द सन की रिपोर्ट में कहा गया है कि रोडरिगो ने फ्री ऐप आटोडेस्क 123डी डाउनलोड किया। इसकी मदद से कार्लिटो के चेहरे का 3डी मॉडल बनाया।

चेहरे का जो हिस्सा खराब था, उसकी 15 तस्वीरें लीं और उन्हें योजनाबद्ध तरीके से तीन अलग-अलग ऊंचाई पर सेट कर दिया। फिर इन फोटोज को अपलोड किया और कार्लिटो का वर्चुअल फेस बनाया।

डॉक्टर रोडरिगो सालाजार की टीम को मरीज का प्राकृतिक स्किन बनाने में करीब 20 घंटे का समय लगा। ये स्किन सिलिकॉन के बनाे गए। बाद में इस स्किन को रंग और रूप दिया गया।


असली स्किन की तरह झुर्रियां भी बनाई गईं, ताकि चेहरा पूरी तरह प्राकृतिक दिखाई दे। बाद में इस हिस्से को टाइटेनियम के स्क्रू की मदद से चेहरे पर जोड़ा गया।

इस सर्जरी में करीब दो घंटे का समय लगा।

कार्लिटो ने इस सर्जरी के बाद अपना चेहरा देखा तो खुशी से चिल्ला उठे। चेहरा ठीक करने के लिए कार्लिटो की यह दूसरी सर्जरी थी। पहली सर्जरी कामयाब नहीं रही थी।

Popular on the Web

Discussions